भारतीय आरोग्य सेतु' का कमाल, WHO भी हुआ प्रभावित, गरीब देशों के लिए लॉन्च करेगा ऐसा ही ऐप यह बात बिल्कुल सही है परंतु हमारी सरकार को दूरदराज के गांव में इंटरनेट की सुविधा को बेहतर बनवाना चाहिए कल अचानक कांधला थाने के ग्राम डागंरोल के एक व्यक्ति कि पीजीआई में मौत हो जाने के बाद वहां के लोगों दहशत में है और सरकार से मांग कर रहे हैं कि हमारे गांव में आरोग्य सेतु लोड ही नहीं होता है क्योंकि किसी भी कंपनी का इंटरनेट यह काम नहीं चेक करता जिससे हम लोगो को हर समय आशंका रहती है कोरोनावायरस की परंतु हम आरोग्य सेतु एप लोड ना होने के कारण इस महत्वपूर्ण ऐप का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं आते उत्तर प्रदेश सरकार भारत सरकार से निवेदन है कि वह दूरदराज के गांवों में इंटरनेट की सुविधा को दुरुस्त कराएं जिससे ग्रामीण क्षेत्र भी आरोग्य ऐप से जुड़ सकें डॉक्टर अमन की रिपोर्ट

भारतीय आरोग्य सेतु' का कमाल, WHO भी हुआ प्रभावित, गरीब देशों के लिए लॉन्च करेगा ऐसा ही ऐप यह बात बिल्कुल सही है परंतु हमारी सरकार को दूरदराज के गांव में इंटरनेट की सुविधा को बेहतर बनवाना चाहिए कल अचानक कांधला थाने के ग्राम डागंरोल के एक व्यक्ति कि पीजीआई में मौत हो जाने के बाद वहां के लोगों दहशत में है और सरकार से मांग कर रहे हैं कि हमारे गांव में आरोग्य सेतु लोड ही नहीं होता है क्योंकि किसी भी कंपनी का इंटरनेट यह काम नहीं चेक करता जिससे हम लोगो को हर समय आशंका रहती है कोरोनावायरस की परंतु हम आरोग्य सेतु एप लोड ना होने के कारण इस महत्वपूर्ण ऐप का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं आते उत्तर प्रदेश सरकार भारत सरकार से निवेदन है कि वह दूरदराज के गांवों में इंटरनेट की सुविधा को दुरुस्त कराएं जिससे ग्रामीण क्षेत्र भी आरोग्य ऐप से जुड़ सकें डॉक्टर अमन की रिपोर्ट


जिनेवाः विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) जल्द ही आरोग्य सेतु जैसा ऐप लॉन्च करने जा रहा है, जिसमें वो सारी तकनीकि खासियतें होंगी, जो आरोग्य सेतु में है. कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण रोकने के लिए भारत सरकार ने आरोग्य सेतु ऐप को लॉन्च किया था. इस ऐप को अभी तक 9 करोड़ से अधिक लोग डाउनलोड कर चुके हैं.


WHO के ऐप में होंगी ये खासियतें
विश्व स्वास्थ्य संगठन जो ऐप लॉन्च करने जा रहा है, उसमें ब्लूटूथ से लोगों को कोरोना वायरस के लिए ट्रेक किया जा सकेगा. ऐप लोगों से उनके रोग के लक्षणों के बारे में पूछेगा, साथ ही इनका निदान भी बताएगा. संगठन के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी बर्नाडो मारिआनो ने रॉयटर्स को बताया कि इसके लोगों को यह भी बताया जाएगा कि कैसे वो इस बीमारी की जांच करवा सकते हैं. हालांकि यह देश के ऊपर निर्भर होगा कि वो कैसे जांच करवाएगा.


जल्द ही ऐप स्टोर्स पर लॉन्च होगा 
मारिआनो ने कहा कि WHO जल्द ही ऐप को प्ले स्टोर और आईओएस पर लॉन्च करेगा. इस ऐप की तकनीक को कोई भी सरकार ले सकेगी, उसमें नए फीचर डालकर के अपना वर्जन लॉन्च कर सकती है. 
भारत के अलावा इन देशों ने लॉन्च किया ऐप
भारत के अलावा फिलहाल ऑस्ट्रेलिया और यूनाइटेड किंगडम अपना खुद का वायरस को ट्रेक करने वाला ऐप लॉन्च कर चुके हैं. इन ऐप्स के जरिए लोगों को आसानी से ट्रेक किया जा सकता है और अगर ये किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आते हैं तो भी पता चल जाता है.


Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
13 दिसंबर स्वामी विद्यानंद गिरी महाराज की पुण्यतिथि प्रवर्तन योद्धा मोहन जोशी के जन्मदिन पर विशेष महावीर संगल जी
Image
अकबर महान पढा पर एक सच्चाई जो छुपाई गई देखें इस लेख में पवन सिंह तरार
Image
सावधान देश को अन देने वाला किसान सम्मान देने वाला पहलवान दोनों की आंखों में आंसू गैरों पे करम अपनों पर सितम
Image
इस लड़की का नाम अमृता कुमारी और पिता का नाम ब्रह्मा प्रसाद है कुशीनगर के पास जंगल चौरी गांव की रहने वाली है कोई लड़का बहका कर सिवान लेकर चला गया
Image