नई दिल्ली। अमेरिका और इजरायल की तरह भारत सरकार भी सेना में भर्ती के लिए क्रांतिकारी कदम उठाने जा रही है। अब इंडिया में कोई भी आम आदमी भी भर्ती हो सकता है। अगर यह खबर सच है तो वास्तव में ही यह एक क्रांतिकारी कदम है और यह भारत की सेना की शक्ति के लिए मील का पत्थर साबित होगा क्योंकि इससे पूरे भारत में बिखरी पड़ी टैलेंट एकत्र हो जाएगी और उसका संयुक्त बल हर किसी पर भारी पड़ेगा देखें भारत क्या नया तरीका लागू करने जा रहा है

नई दिल्ली। अमेरिका और इजरायल की तरह भारत सरकार भी सेना में भर्ती के लिए क्रांतिकारी कदम उठाने जा रही है। अब इंडिया में कोई भी आम आदमी भी भर्ती हो सकता है। अगर यह खबर सच है तो वास्तव में ही यह एक क्रांतिकारी कदम है और यह भारत की सेना की शक्ति के लिए मील का पत्थर साबित होगा क्योंकि इससे पूरे भारत में बिखरी पड़ी टैलेंट एकत्र हो जाएगी और उसका संयुक्त बल हर किसी पर भारी पड़ेगा देखें भारत क्या नया तरीका लागू करने जा रहा है खास बात यह कि ट्रेनिंग आर्मी के नियम कायदे और कानूनों के तहत होगी, लेकिन सेना में शामिल होने वाला शख्स अगर चाहेगा तो कुछ औपचारिकताएं पूरी करने के बाद पूर्णकालिक कमीशन भी प्राप्त कर सकेगा। भारत सरकार ने इस शार्ट सर्विस कमीशन को ‘टूअर ऑफ ड्यूटी’ दिया है। सेना का मकसद भारत के बेस्ट टेलेंट को सेना से जोड़ने का है। इंडियन आर्मी में यह क्रांतिकारी कदम सीडीएस विपिन चंद रावत की पहल पर उठाया जा रहा है। ऐसा भी कहा जा रहा है कि जंग के हालात में पाकिस्तान और चीन को एक साथ मात देने के लिए भारतीय सेना तैयारी शुरू कर दी है। यह कदम भी उन्हीं तैयारियों का हिस्सा है।


Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
दुनिया व आज के संदर्भ में भारत की तुलना छोटा बच्चा समझ जाए पर नासमझ नेता नहीं नदीम अहमद
Image