ओवरटेक करते ट्रैक्टर ट्रॉली से टकराने के कारण दो युवकों की मौत चरथावल मेहरबान खान


 मुजफ्फरनगर खबर



*सड़क दुर्घटना मे दो युवको की मोत, परिवार मे कोहराम*



जनपद मुजफ्फरनगर के चरथावल थाना क्षेत्र के गांव सैद नगला मे दो युवको की सड़क दुर्घटना मे मृत्यु हो गयी बसेडा रोड स्थित फैक्ट्री के सामने मंगलवार रात्रि 8 बजे सड़क एक्सीडेंट मे एक 28 वर्षीय इरतजा पुत्र मुस्तकीम मरहूम व 25 वर्षीय अनुज पुत्र स्वर्गीय ऋषिपाल की मोत हो गयी बसेडा की ओर से आ रहे टैक्टर टैक्टर ट्राली के अवर टेक के चपेट मे आने के कारण दोनो युवको की मोत हुवी हैं जानकरी के अनुसार दोनो युवक चर थावल थाना क्षेत्र के गांव सैद नगला के निवासी थे जिनकी सड़क दुर्घटना मे मौके पर ही मोत हो गयी बताया जा रहा हैं दोनो युवक बसेडा स्थित इट भट्टा पर कार्य करते थे रात्रि होटल पर खाना खाने के बाद दोनो युवक अपने दोस्त की ससुराल मे गांव बसेडा जा रहे थे जहां दूसरी ओर से आ रहे अज्ञात टैक्टर ट्राली मे अवरटेक करने से युवक अनियंत्रित होकर दोनो युवक सड़क पर गिर गए ट्राली का चक्का युवक के कन्धे पर चढ़ाते हुवे आगे की ओर बढ़ गया टेक्टर युवक की बाइक पूरी तरह रौंदते गया जिससे युवको की मौके पर मोत हो गयी स्थानीय लोगों के द्वारा थाना छपार मे घटना की सूचना दी गयी थाना प्रभारी छपार पुलिस फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुँचे ओर दोनो युवको क़ो मोर्चरी भिजवाया घटनास्थल पर पहुँचे परिजनो क़ो पंचनामा भरकर थाना प्रभारी ने दोनो युवको के शव क़ो परिजनो के सूपर्द कर दिया गया!

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
क्योंकि पूरी दुनिया में कारपेट बिछाने से अच्छा है कि हम अपने पैरों में ही जूता पहन लें..