2 साल में खत्म हो जाएंगे देश के सभी टोल प्लाजा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी देखें देश की प्रमुख खबरें आंखों देखे पर


*केंद्र सरकार का बड़ा बयान- 2 साल में देशभर से खत्‍म कर दिए जाएंगे टोल प्‍लाजा*


देशभर में वाहनों की स्वतंत्र आवाजाही के लिए केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि आने वाले 2 सालों में भारत को टोल नाका मुक्त बना दिया जाएगा. इसके लिए सरकार ने ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम को अंतिम रूप देने का फैसला लिया है. गुरुवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि आने वाले दो सालों में वाहनों का टोल सिर्फ आपके लिंक्ड बैंक खाते से ही काटा जाएगा.


एसोचैम फाउंडेशन वीक कार्यक्रम में बातचीत करते हुए नितिन गडकरी ने कहा कि रूस सरकार की मदद से हम जल्द ही GPS सिस्टम को फाइनलाइज्ड कर लेंगे, जिसके बाद दो सालों में भारत पूरी तरह से टोल नाका मुक्त हो जाएगा.



बता दें इस समय देश में सभी कॉमर्शियल वाहन ट्रैंकिग सिस्टम से लैस हैं. वहीं, सरकार सभी पुराने वाहनों में भी जीपीएस सिस्टम टेक्नोलॉजी लगाने के लिए तेजी से काम करेगी.





 *AAP विधायक सहित CM केजरीवाल ने सदन में फाड़ी कृषि कानून की कॉपी, कहा- वोटिंग के बिना पास हुआ बिल*


भाजपा (BJP) शासित नगर निगमों में 2400 करोड़ रुपये की कथित अनियमितताओं पर चर्चा करने के लिए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने विधानसभा का एकदिवसीय सत्र बुलाया है. सत्र के दौरान केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों पर चर्चा के दौरान जमकर हंगामा हुआ. चर्चा के दौरान केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कृषि कानून प्रति सदन में फाड़ दी. सीएम केजरीवाल ने कहा कि फार्मर्स लॉ को कोरोना महामारी के दौरान संसद में पारित करने की क्या जल्दी थी? केंद्र पर आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पहली बार हुआ है कि राज्यसभा में मतदान के बिना 3 कानून पारित किए गए है. केजरीवाल ने केंद्र से अपील की कि वे अंग्रेजों से बदतर न बनें.



विधानसभा सत्र के दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हर किसान भगत सिंह बन गया है. सरकार कह रही है कि वे किसानों तक पहुंच रहे हैं और फार्मर्स बिलों के लाभों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं. यूपी के सीएम ने किसानों से कहा कि वे इन बिलों से लाभान्वित होंगे क्योंकि उनकी जमीन नहीं छीनी जाएगी. क्या यह सिर्फ लाभ उठाने के लिए है ?




 *UP में टूटे धान खरीद के सभी रिकार्ड, अब तक बीते साल के मुकाबले 2 गुना किसानों से हो चुकी है MSP पर खरीद*


उत्‍तर प्रदेश में न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य पर धान खरीद को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ की देखरेख में तैयार हुई योजना असरदार साबित हुई है. इस योजना के चलते ही राज्य में अब तक 6.96 लाख किसानों से 37.29 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद हो चुकी है. राज्‍य में बीते साल 16 दिसंबर तक 3.16 लाख किसानों से धान खरीदा गया था. इस तरह बीते साल के मुकाबले अब तक 2 गुने से अधिक किसानों से सरकार ने धान खरीद कर अपना ही रिकार्ड तोड़ दिया है. खरीद की प्रक्रिया अब भी जारी है. यही नहीं, योगी सरकार ने प्रदेश के धान किसानों को सबसे अधिक भुगतन का रिकार्ड भी बनाया है. राज्‍य सरकार ने पिछले 4 साल में प्रदेश के धान किसानों को 31904 करोड़ रुपये का भुगतान किया है.



सीएम योगी के मीडिया प्रभारी ने कहा है कि राज्य में धान खरीद से जुड़े अफसरों के अनुसार सीएम योगी आदित्यनाथ राज्य में किसानों को उनकी फसल की लागत से 2 गुना दाम दिलाने की कोशिश कर रहे हैं. इसके तहत ही प्रदेश सरकार ने सामान्य धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1868 रुपए प्रति क्व‍िंटल जबकि ग्रेड ए धान का 1888 रुपए प्रति क्व‍िंटल रखते हुए इस वर्ष धान खरीद का कुल लक्ष्य 55 लाख मीट्रिक टन रखा है.




 *PUBG को लेकर RTI से पूछा सवाल, सरकार ने बताया कब होगा लांच*


PUBG Mobile India के लॉन्च होने का भारत में काफी लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे है. सरकार ने चीन के साथ सीमा विवाद के चलते इस गेम पर बैन लगा दिया था. तभी से PUBG Mobile India भारत में शानदार वापसी की तैयारी कर रहा है. इसके लिए कंपनी ने पिछले दिनों बैटल रॉयल गेम का टीजर भी जारी किया था. जिसके बाद से अंदाजा लगाया जा रहा था कि ये गेम जल्द ही लॉन्च हो जाएगा. लेकिन, अभी तक ये गेम भारत में लॉन्च नहीं हो पाया है. आपको बता दें PUBG Mobile की भारत में लॉन्चिंग की आधिकारिक घोषणा हो चुकी है. अभी तक इसकी लॉन्चिंग डेट का ऑफिशियल ऐलान नहीं हुआ है. ऐसे में केंद्र सरकार ने एक आरटीआई का जवाब देते हुए साफ कर दिया है कि ये गेम आखिर कब तक भारत में लॉन्च होगा.


PUBG की लॉन्चिंग को लेकर 30 नवंबर को एक आरटीई लगाई गई थी. जिसका जवाब देते हुए सरकार ने बताया कि, PUBG के लॉन्च को लेकर सरकार ने अभी कोई अनुमति नहीं दी है. ऐसे में इस साल PUBG के लॉन्च होने की संभावना बिल्कुल भी नहीं है. वहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए  PUBG Mobile India को मार्च 2021 से पहले भारत में लॉन्च किए जाने की संभावना नहीं है. हालांकि, अभी तक कंपनी ने इसे लेकर आधिकारिक पुष्टि नहीं की है. आपको बता दें इससे पहले आई कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि PUBG के इस भारतीय वर्जन को नवंबर या दिसंबर के पहले सप्ताह में लॉन्च कर दिया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.


PUBG Mobile India गेम को लेकर एक दूसरी बड़ी खबर सामने आई है. जिसमें बताया गया है कि कंपनी ने भारत में इस गेम को ग्रैंड बनाने के लिए इस बार 6 करोड़ रुपये के इनाम की घोषणा की है. जिसमें प्लेयर्स की सैलरी 40 हजार रुपये से लेकर 2 लाख रुपये तक होगी. जो इनाम के तौर पर दी जाएगी. रिपोर्ट के अनुसार ये राशि टीयर एक टीम के लिए निर्धारित की गई है.




 *झारखंड CM हेमंत सोरेन पर मॉडल ने लगाया रेप का आरोप, NCW ने लिया संज्ञान*


झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर एक मॉडल द्वारा लगाए लगाए गए रेप के आरोप लगाया गया है जिस पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने संज्ञान लिया है. आयोग ने कहा है- हमें मुंबई की एक मॉडल द्वारा हेमंत सोरेन पर रेप के आरोप की खबरें मीडिया रिपोर्ट्स में पढ़ने को मिली हैं. मॉडल ने आरोप लगाया है कि 2013 में हेमंत सोरेन और सुरेश नागरे नाम के व्यक्ति द्वारा न सिर्फ उसका रेप किया गया बल्कि उसे और उसके परिवार को लगातार धमकियां दी गईं. मॉडल से कहा गया कि अगर उसने रेप की घटना सार्वजनिक की तो परिणाम भुगतने होंगे.


स्टेटमेंट में कहा गया है- ऐसी रिपोर्ट्स हैं कि पीड़ित मॉडल का एक कथित लेटर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस लेटर में 7 साल पहले की सारी घटनाओं का जिक्र है. इसे लेकर महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने महाराष्ट्र के डीजीपी से जानकारी मांगी है.


गौरतलब है कि यह मामला सोशल मीडिया पर भी ट्रेंड हुआ है. जस्टिस फॉर आएशा के जरिए मुहिम चलाई जा रही है. लोगों ने मुंबई पुलिस से आएशा को सुरक्षा देने की गुहार लगाई है. #justiceforayesha बुधवार को भारत के टॉप ट्रेंड में शामिल हो गया था. इसी हैश टैग के तहत लेटर भी शेयर किया जा रहा है.




 *रक्षा मंत्रालय ने ₹28,000 करोड़ के सैन्य सामान की खरीद को दी मंजूरी*


रक्षा मंत्रालय ने सेना के तीनों अंगों के लिए 28,000 करोड़ रुपये की लागत से हथियार और सैन्य उपकरण की खरीद को मंजूरी दे दी. अधिकारियों ने इस बारे में बताया. इस खरीद को ऐसे समय में मंजूरी दी गयी है जब भारत और चीन के बीच, पूर्वी लद्दाख में सीमा पर लंबे समय से गतिरोध चल रहा है. अधिकारियों ने बताया कि मंजूर किए गए तकरीबन सारे हथियारों और सैन्य उपकरणों की घरेलू उद्योगों से खरीद की जाएगी.


रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा- रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में रक्षा खरीद परिषद ने घरेलू उद्योग से 27,000 करोड़ रुपये के खरीद प्रस्तावों को मंजूरी दी है. अधिकारियों ने बताया कि रक्षा मंत्रालय की खरीद पर निर्णय लेने वाली सर्वोच्च इकाई डीएसी ने खरीद के कुल 7 प्रस्तावों को मंजूरी दी





 *भारत की 42वीं कम्युनिकेशन सैटेलाइट लॉन्च, यह ISRO का साल का आखिरी मिशन*


इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन ने CMS01 कम्युनिकेशन सैटेलाइट की सफल लॉन्चिंग कर दी है. यह जानकारी इसरो प्रमुख डॉक्टर के सिवन ने दी है. PSLV-C50 रॉकेट की मदद से यह लॉन्चिंग आज दोपहर 3 बजे की गई है. खास बात है कि CMS01 भारत की 42वीं कम्युनिकेशन सैटेलाइट है. यह भारत के अलावा अंडमान-निकोबार और लक्षद्वीप के इलाकों को भी कवर करेगी. यह इसरो का इस साल का आखिरी मिशन है.


डॉक्टर सिवन ने बताया PSLV-C50 ने सफलता पूर्वक CMS-01 कम्युनिकेशन सैटेलाइट को पहले से तय ऑर्बिट में पहुंचा दिया है. उन्होंने सैटेलाइट के बेहतर काम करने की भी जानकारी दी. उन्होंने बताया सैटेलाइट अच्छी तरह से काम कर रही है और तय स्लॉट में अगले 4 दिनों में पहुंच जाएगी. इतना ही नहीं उन्होंने टीम के काम भी सराहना की. उन्होंने कहा- हमारी टीमों ने कोरोना महामारी के हालात में बहुत अच्छी और सुरक्षित तरह से काम किया.