फ्री मेडिकल सेवा के नाम पर अनपढ़ों को ठग ते ठग मेहरबान खान कांधला

 M संस्था के नाम पर भोली भाली जनता को  भ्रमित कर पैसा  ऐंठने का तरीका   कैराना आज कल नगर में एक संस्था के कुछ पद अधिकारी नगर के पिछड़े


 इलाको की मलिन बस्तियों में कम पढ़े लिखे लोगो को से पैसा ऐंठने का मामला प्रकाश में आया है 

एक महश्य जोकि कांधला ब्लाक के एक गांव का राजनेतिक पॉवर वाला व्यक्ति बताया जाता है जोकि एक संस्था पंजीकृत कराकर उसके सदस्य व पदाधिकारी नियुक्त करता है फिर उनके सहयोग से ग्रामीण एवं नगर की मलिन बस्तियों में जाकर लोगो को जागरूक करने के बहाने से कैम्प इत्यादि का आयोजन करते है और बड़े बूढ़े  व अनपढ़ लोगो को  स्वास्थ्य सेवाओं का झांसा देकर 300 रुपए पर व्यक्ति के हिसाब सदस्यता ग्रहण कराई  जाती है सदस्यता तो ठीक है लेकिन लोगो ऐसा लालच दिया जाता है कि उक्त संस्था द्वारा एक कार्ड जारी किया जाएगा जिसे दिखाकर  किसी भी प्राइवेट हॉस्पिटल में 10000 से 5 लाख रुपए तक की फ्री मेडिकल सहायता मिलेगी उपरोक्त कार्ड धारक किसी भी हॉस्पिटल में फ्री ऑपरेशन किए जायेगे एक बूढ़े भुक्त भोगी ने बताया कि जब उसे सर्टिफिकट दिया गया  तो 300 रुपए वसूले गए  नाहिद कालोनी  गुलशन नगर 9 गजा पीर बाईपास झंडी वाला पीर के निकट के सैंकड़ों लोगों को ठगा गया है  पता जब चला जब एक बूढ़ा व्यक्ति अपने इलाज के लिए करनाल हॉस्पिटल में जाकर उक्त कार्ड पर अपनी किडनी का ऑपरेशन कराने पहुंचे तो उक्त कार्ड की असलियत सामने आती उक्त कार्ड वैसे तो केवल एक संस्था का परिचय पत्र है लेकिन पीएम मोदी कि योजना भारत  आयुष्मान  बताकर 300 रुपए लेकर अनपध आदमी को संस्था गत ठगा गया है   अगर वह आदमी इस कार्ड को पुलिस को दिखाएं भी तो क्या होगा उसपर कहीं स्वास्थ्य सम्बन्धी जन सेवा का उल्लेख नहीं है   तो आप सभी से अपील है ऐसे फर्जी वाडे से बचे और अपने पड़ोसियों को बचाए   उक्त संस्था का राष्ट्रीय अध्यक्ष अपने आपको भाजपा मंत्रालय  में होने का भी भ्रम पैदा करता है जोकि बड़ी गाड़ियों में घूमने को शोंक और एशो इशरत का सामान रखता है लोगो को लुभाने सपने  सब्ज बाग दिखाता है  ऐसे लोगो से  सावधान रहे  pk7न्यूज़ द्वारा जन हित मे जारी

Popular posts
संविदा व ठेके पर नगर पालिका में सफाई कर्मियों को परमानेंट कराने हेतु मुख्यमंत्री के नाम डीएम को ज्ञापन अरविंद झंझोट
Image
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
महर्षि बाल्मीकि पर आप नेता ने की अभद्र टिप्पणी बाल्मीकि समाज में रोष अरविंद झंझोट
Image
सफाई कर्मचारियों को नियमित कराने के लिए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन
Image
बागपत पुलिस पीड़ित पिता का थप्पड़ से स्वागत प्रभारी लाइन हाजिर
Image