यूपी पुलिस के अद्भुत कारनामे मर्तक पर दर्ज कर दी एफ आई आर 4 सीट नोटिस भी थमाया मेहरबान खान

 *यूपी: मृतक पर रिपोर्ट, चार्जशीट लगाई, नोटिस भी थमा आई, गिरफ्तार करने पहुंची तब हुआ खुलासा*



पुलिस यूं ही नहीं बदनाम! उसका नया कारनामा देखिए... मरे व्यक्ति के नाम पर बिजली चोरी की एफआईआर दर्ज की। विवेचना के बाद कोर्ट में आरोपपत्र दाखिल कर दिया। यही नहीं, विवेचक महोदय मृतक के हस्ताक्षर से मुकदमे का नोटिस भी तामील करा आए। आरोपी कोर्ट में हाजिर नहीं हुआ तो गैर जमानती वारंट किया गया।


इस पर पुलिस उसे गिरफ्तार करने घर पहुंच गई। यहां खुलासा हुआ कि एफआईआर दर्ज होने के तीन साल पहले ही आरोपी चल बसा। पुलिस की इस लापरवाही को गंभीरता से लेते हुए ईसी एक्ट के विशेष न्यायाधीश मोहम्मद शफीक ने विवेचक को तलब कर एसएसपी और जिला जज को भी पत्र लिखा है।


केस्को के जेई संजय त्रिवेदी ने आदर्श नगर तिवारीपुर निवासी कृष्ण कुमार त्रिवेदी के खिलाफ 23 जनवरी 2019 को चकेरी थाने में बिजली चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एसआई मानसिंह को विवेचना मिली तो उन्होंने चार जून 2019 को कृष्णकुमार के खिलाफ चार्जशीट कोर्ट में भेज दी और सीआरपीसी की नोटिस भी तामील करा दी।


नोटिस पर कृष्ण कुमार के हस्ताक्षर भी बनवाए गए। कोर्ट के समन पर कृष्ण कुमार हाजिर नहीं हुआ तो गैरजमानती वारंट जारी हो गया। वारंट लेकर जब पुलिस उसे गिरफ्तार करने घर पहुंची तो उनकी बेटी ने बताया कि कृष्ण कुमार की पांच अगस्त 2016 को ही मौत हो चुकी है।


कोर्ट में पैरोकार ने बेटी के बयान और कृष्ण कुमार के मृत्यु प्रमाणपत्र सहित रिपोर्ट पेश की। इस पर कोर्ट ने मरे व्यक्ति के नाम पर एफआईआर, चार्जशीट और मृतक के हस्ताक्षर वाली नोटिस तामीली को गंभीर अपराध मानते हुए विवेचक को तलब कर स्पष्टीकरण मांगा है। साथ ही मामले को मॉनीटरिंग सेल की मीटिंग में एसएसपी के सामने रखने के लिए जिला जज को भी पत्र लिखा है।


स्पष्ट है कि विवेचक ने बिना विवेचना चार्जशीट कोर्ट भेज दी। चार्जशीट भेजने पर कानूनन सीआरपीसी की धारा 41 (क) के तहत नोटिस देकर आरोपी को भी इसकी सूचना दी जाती है। इस नोटिस पर भी विवेचक ने कृष्ण कुमार के हस्ताक्षर बना दिए। इससे विवेचक की घोर लापरवाही उजागर हुई - कैलाश शुक्ला, एडीजीसी

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
महान कृषि वैज्ञानिक धरतीपुत्र डॉक्टर रामधन सिंह जी की जयंती पर नमन करते हुए विकास पवार भारसी
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान