छपरोली नहर टूटने से सैकड़ों बीघा खेत जलमग्न फसलें हुई बर्बाद मुआवजे की मांग देवेंद्र चौहान

 छपरौली:- क्षेत्र के गाँव तिलवाडा में नहर की पटरी टूटने से खेतों में हुए जल भराव के कारण हुईं सैकड़ों बीघा फसल बर्बाद। समाजसेवी आर.आर.डी. उपाध्याय ने मुख्यमन्त्री को पत्र लिखकर किसानों की फसल का मुआवजा और नहर की पटरी पक्की करने की मांग की।


क्षेत्र के गाँव तिलवाडा से निकलने वाली खंद्रावली यमुना नहर की पटरी टूटने से खेतों में हुए जल भराव के कारण मशहूर, तरबूज, टमाटर, टिण्डे, शिमला मिर्च, मिर्च आदि सब्जियां और गन्ने की हुई ताजा बुआई की सैकड़ों बीघा फसल नष्ट हो गई। नहर के पानी की चपेट में आने वाले छोटे किसानों की फल है। पिछले वर्ष की भांति दलित किसान सतपाल की तैयार सब्जियों की नष्ट फ़सल से भारी नुकसान हुआ है। पिछले वर्ष भी पटरी टूटने से इन्हीं किसानों की लगभग 70 बीघा फसल तबाह हो गई थी। समाजसेवी आर०आर०डी० उपाध्याय ने उत्तर-प्रदेश के मुख्यमन्त्री को पत्र लिखकर किसानों की बर्बाद हुई, फसल का मुआवजा और नहर की पटरी को पक्की करने की मांग की हैं


समाजसेवी आर०आर०डी० उपाध्याय ने बताया कि तुगाना पुल से लेकर मीरपुर हेवा की लगभग डेढ़ किलोमीटर तक बाईं पटरी इतनी कमजोर हैं कि यह कई बार टूट चुकी हैं। नहर से सम्बन्धित अधिकारी इससे अवगत है। वह नहर की पटरी को पक्की करने का आश्वासन भी देते है। लेकिन मुआवना तक नहीं करते। जिसका खामियाजा गरीब किसानों को भुगतना पड़ता हैं।

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
महान कृषि वैज्ञानिक धरतीपुत्र डॉक्टर रामधन सिंह जी की जयंती पर नमन करते हुए विकास पवार भारसी
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान