लखनऊ मंडल राष्ट्रीय शिक्षक संघ कोरोना के दृष्टिगत दो दिवसीय प्रशिक्षण रोकने के लिए ज्ञापन रिपोर्टअजय सिंह

 *बेसिक शिक्षा विभाग लखनऊ मंडल के ब्लॉक संसाधन केंद्र स्तर पर कोरोना माहामारी के दौरान होने वाले दो दिवसीय प्रशिक्षण को रोकने के संबंध मे दिया ज्ञापन*


राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ कि लखनऊ मंडल की टीम ने मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक लखनऊ को ज्ञापन देकर कि प्रशिक्षण रोके जाने की मांग

    राज्य परियोजना कार्यालय के पत्रांक-गुण0वि0/TT/8808/2021 दिनांक 15 जनवरी 2021 के अनुसार विभिन्न जनपदों/विकासखण्डों पर शिक्षकों के आधारशिला क्रियान्वयन संदर्शिका, समृद्ध हस्तपुस्तिका, प्रिंटरिच मटैरियल एवं गणित किट पर आधारित दो दिवसीय ऑफलाइन प्रशिक्षण गतिमान है। 

     राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के मंडल अध्यक्ष महेश मिश्रा ने आग्रह किया वर्तमान में कोरोना महामारी का संक्रमण पूरे प्रदेश में अत्यंत तीव्रता से फैल रहा है जिस कारण वर्तमान में सीतापुर के बेहटा विकासखण्ड पर चल रहे प्रशिक्षण में सभी सन्दर्भदाताओं की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने से उनके सम्पर्क में आए लगभग 60 शिक्षकों को कोविड संक्रमण होने की पूर्ण सम्भावना उत्पन्न हो गई है। महोदय शिक्षकों के अमूल्य जीवन के हित में संगठन आपसे यह माँग करता है कि बढ़ते हुए कोविड संक्रमण को ध्यान में रखते हुए जनपदों के विकासखण्डों पर चल रहे इन ऑफलाइन प्रशिक्षणों पर तत्काल रोक लगाई जाए जिससे कि कोई भी शिक्षक कोरोना महामारी से संक्रमित व उसका वाहक न बन सके।

  राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ की टीम की तरफ से रीना त्रिपाठी ने ब्लॉक संसाधन केंद्रों में इस लंबे प्रशिक्षण के दौरान समुचित कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन पर संदेह जाहिर किया तथा शिक्षकों को इस महामारी से बचाया जा सके इसके लिए कुछ महीनों के लिए जब तक तेजी से फैल रहे महामारी पर कुछ रोकना लग जाए, ऐसे प्रशिक्षण ऊपर रोक लगाए जाने की मांग की।

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
जिंदगी का सफर-ये कैसा सफर कहानी क्या शिक्षा दे रही है वह बता रही है यह संसार ही समुंद्र है दंपत्ति का घर ही उसमें जलयान है यानी समुद्री जहाज है उसमें रहने वाले पति पत्नी मुसाफिर है और बच्चों को सही से इस भवसागर से पार तार देना कर्म नाम से जाना जाता है इसमें सफर कर रहे पति पत्नी पत्नी मोह के कारण डूब जाती है और पति ज्ञान रूपी नौका पर सवार होकर समुद्र से बाहर निकल आता है यह इस कहानी का सारांश या भावार्थ होना चाहिए आगे बता रहे हे सुंदर कहानी बता रहे है मेहरबान खान अपनी जबानी
Image