केंद्र सरकार के पास गरीब कर्मचारियों के लिए पैसा नहीं सेठो के लाखों करोड़ कर देती है माफ

 दो समाचार



1) केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने राज्यसभा में बताया, केंद्र सरकार के कर्मचारियों को कोरोना के दौरान का 18 महीने का डीए नहीं मिलेगा, क्योंकि सरकार के पास पैसा नहीं है। 


2) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में बताया, 2016 से 2021 तक 10 लाख करोड़ रुपए का कर्जा राइट ऑफ किया गया है।


नोट 

राइट ऑफ का मतलब होता है बट्टे खाते में डाल देना। यानी, इस कर्ज को वसूला नहीं जाएगा। 


विशेष नोट-बट्टे खाते में उन्हीं लोगों का कर्ज डाला जाता है जिनकी मोदी सरकार तक पहुंच होती है और जो करोडो अरबो रुपिए का भारी भरकम चंदे देते हैं, जो मोदी की हाई फाई रैलियों का खर्च उठाते हैं। वरना किसान, मजदूर, व्यापारी की तो बैंक चमड़ी उधेड़ कर कर्ज वसूल कर लेते हैं।

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
13 दिसंबर स्वामी विद्यानंद गिरी महाराज की पुण्यतिथि प्रवर्तन योद्धा मोहन जोशी के जन्मदिन पर विशेष महावीर संगल जी
Image
अकबर महान पढा पर एक सच्चाई जो छुपाई गई देखें इस लेख में पवन सिंह तरार
Image
सावधान देश को अन देने वाला किसान सम्मान देने वाला पहलवान दोनों की आंखों में आंसू गैरों पे करम अपनों पर सितम
Image
इस लड़की का नाम अमृता कुमारी और पिता का नाम ब्रह्मा प्रसाद है कुशीनगर के पास जंगल चौरी गांव की रहने वाली है कोई लड़का बहका कर सिवान लेकर चला गया
Image