शामली सीएससी दिवस धूमधाम से मनाया विकास पवार


सीएससी दिवस धूम धाम से मनाया गया

      सूचना और तकनीकी मंत्रालय भारत सरकार की अधिकृत संस्था सीएससी ई- गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड द्वारा संचालित कॉमन सर्विस सेंटरों माध्यम से आज सम्पूर्ण देश में “सीएससी दिवस” के रूप में मनाया गया। 


बताते चलें कि, सूचना और तकनीकी मंत्रालय भारत सरकार द्वारा सम्पूर्ण देश में डिजिटल इंडिया क्रांति को बढ़ावा दिये जाने के क्रम में  दिनांक 16 जुलाई 2009 को सीएससी ई- गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड (सीएससी-एसपीवी) की स्थापना की गयी थी। 

उक्त के क्रम में सीएससी-एसपीवी के चौदहवें स्थापना दिवस के अवसर पर आज जनपद शामली के  वीएलई (ग्रामीण स्तरीय उद्यमियों) द्वारा अपने सीएससी केंद्र पर फूल माला गुब्बारे आदि से सजा- धजा  कर स्थानीय व गणमान्य नागरिकों को आमंत्रित कर भारत सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराये जा रहे विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं जिसमे प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना, श्रमयोगी मानधन योजना ई-श्रम पंजीकरण, एमएसएमई पंजीकरण, एनपीएस, अटल पेंशन योजना, जीवन प्रमाण,किसान सम्मान निधि केवाईसी,  स्वस्थ्य सेवाएँ, वित्तीय समावेशन, पीएम स्किम्स, PMGDISHA योजना के लाभार्थियों का सर्टिफिकेट डिस्ट्रिब्यूशन, वृक्षारोपण आदि कार्यक्रम आयोजित कर नागरिकों को लाभ देने का कार्य किया गया।  


सीएससी जिला समन्वयक प्रांशु चौधरी ने बताया कि जनपद शामली  के लगभग सभी गम पंचयातों में सक्रिय सीएससी केन्द्रों द्वारा नागरिकों को सरकारी तथा गैर सरकारी सेवा देने का कार्य किए जाने के साथ – साथ देश के विकास मे अपना योगदान देने का कार्य किया जा रहा है।

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
दुनिया व आज के संदर्भ में भारत की तुलना छोटा बच्चा समझ जाए पर नासमझ नेता नहीं नदीम अहमद
Image
भाई के लिए बहन या गर्लफ्रेंड स्पेशल कोन सच्ची कहानी पूजा सिंह
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image