नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों की फांसी एक बार फिर से टल गई है। दिल्ली की एक अदालत ने 4 दोषियों की फांसी की सजा पर रोक लगा दी भारतीय कानून के शिकंजे में फस कर रह गया है देश की आम जनता का भरोसा आज एक ही दिन में अदालत ने कई दफे कभी फांसी का निर्णय ले रहे हैं कि निश्चित होगी और कुछ ही घंटों बाद फिर उसको पलट देते हैं क्या कैसा कानून है इस कानून से कैसे सुधार आ सकता है देश में ऐसे कानून को बदला ही जाना चाहिए

नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों की फांसी एक बार फिर से टल गई है। दिल्ली की एक अदालत ने 4 दोषियों की फांसी की सजा पर रोक लगा दी भारतीय कानून के शिकंजे में फस कर रह गया है देश की आम जनता का भरोसा आज एक ही दिन में अदालत ने कई दफे कभी फांसी का निर्णय ले रहे हैं कि निश्चित होगी और कुछ ही घंटों बाद फिर उसको पलट देते हैं क्या कैसा कानून है इस कानून से कैसे सुधार आ सकता है देश में ऐसे कानून को बदला ही जाना चाहिएऔर मामले को आगे के आदेशों के लिए टाल दिया।


Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
13 दिसंबर स्वामी विद्यानंद गिरी महाराज की पुण्यतिथि प्रवर्तन योद्धा मोहन जोशी के जन्मदिन पर विशेष महावीर संगल जी
Image
अकबर महान पढा पर एक सच्चाई जो छुपाई गई देखें इस लेख में पवन सिंह तरार
Image
सावधान देश को अन देने वाला किसान सम्मान देने वाला पहलवान दोनों की आंखों में आंसू गैरों पे करम अपनों पर सितम
Image
इस लड़की का नाम अमृता कुमारी और पिता का नाम ब्रह्मा प्रसाद है कुशीनगर के पास जंगल चौरी गांव की रहने वाली है कोई लड़का बहका कर सिवान लेकर चला गया
Image