एक बार  जरूर पूरा पढ़िए .......अगर हिंदुत्व को बचाना है  यानी के अपने आप को बचाना है  तो सब मतभेद भुलाकर हमें एक मंच पर आना पड़ेगा l जाती पाती ऊंच-नीच सन्यासी वैरागी उदासी नाथ l यह सब छोड़ कर  केवल हम हिंदू हैं l आपकी बात सही है परंतु हिंदू के बजाय सनातन कहना ज्यादा उत्तम है हां पूरे लेख में कुछ शब्दों से मैं सहमत नहीं सविधान के हिसाब से परंतु फिर भी मैं आपके लिए को अपने ग्रुप में डाल रहा हूं हो सकता है अगर यह शिक्षाप्रद हो तो लोग इसका लाभ उठाएं नफरत ना करें परंतु उधर अधिक ध्यान ही ना दे नफरत हमारे हृदय में प्रकट होती है उस सबसे पहले हमारा ही अहित करती है दूसरे का हो ना हो यह बहुत दूर की बात है हां आजकल की कुछ स्थिति को देखकर जैसे की सी ऐ ऐ पर विरोध कोरो ना पर समझदारी का परिचय ना देना वह भी बड़े धार्मिक नंबर दारो के द्वारा संविधान को कुछ ना समझना ले कहीं बातें सोचने को मजबूर करती है कि अगर ऐसे ही चलता रहा तो भरत खंड ही क्या संपूर्ण भारत का भविष्य ही अच्छा नहीं दिख रहा है इसलिए सनातन विचारधारा के लोगों को जात पात छोड़कर एक साथ होना ही पड़ेगा इसमें कुछ हित हो सकता है वरना स्थिति तो देश की व्यवस्था के हिसाब से भी खराब है हमारा जो प्रशासन है वह अपनी 70 साल की मूल आदत को नहीं छोड़ रहा है देश के लिए यही सबसे बड़ी विडंबना है मोदी जी को जनता ने व्यवस्था बदलने के लिए ही चुना था परंतु व्यवस्था मैं कोई बदलाव नहीं हुआ है हम यह नहीं कहते कि मोदी जी अच्छा काम नहीं कर रहे कर रहे हैं परंतु व्यवस्था नहीं बदली गई उत्तर प्रदेश में योगी जी अवस्था बदलने का पूरा प्रयत्न कर रहे हैं हो सकता है ऐसे दृड  योगी के संकल्प से उत्तर प्रदेश में कुछ हो जाए जो अभी कम नजर आ रहा है प्रशासनिक अधिकारी अपनी नौकरशाही आदत को नहीं छोड़ना चाह रहे हैं और वह परमार्थिक कामों में से भी अपना हिस्सा काढने  जुगाड़ में लगे रहते हैं जो जनता के लिए अच्छा दृष्टांत नहीं बन रहा है चलो आप जैसे लोग पर्यटन में लगे हो हो सकता है सफलता मिल जाए इसी कामना के साथ आप के लेख को लगा रहा हूं

एक बार  जरूर पूरा पढ़िए .......अगर हिंदुत्व को बचाना है  यानी के अपने आप को बचाना है  तो सब मतभेद भुलाकर हमें एक मंच पर आना पड़ेगा l जाती पाती ऊंच-नीच सन्यासी वैरागी उदासी नाथ l यह सब छोड़ कर  केवल हम हिंदू हैं l आपकी बात सही है परंतु हिंदू के बजाय सनातन कहना ज्यादा उत्तम है हां पूरे लेख में कुछ शब्दों से मैं सहमत नहीं सविधान के हिसाब से परंतु फिर भी मैं आपके लिए को अपने ग्रुप में डाल रहा हूं हो सकता है अगर यह शिक्षाप्रद हो तो लोग इसका लाभ उठाएं नफरत ना करें परंतु उधर अधिक ध्यान ही ना दे नफरत हमारे हृदय में प्रकट होती है उस सबसे पहले हमारा ही अहित करती है दूसरे का हो ना हो यह बहुत दूर की बात है हां आजकल की कुछ स्थिति को देखकर जैसे की सी ऐ ऐ पर विरोध कोरो ना पर समझदारी का परिचय ना देना वह भी बड़े धार्मिक नंबर दारो के द्वारा संविधान को कुछ ना समझना ले कहीं बातें सोचने को मजबूर करती है कि अगर ऐसे ही चलता रहा तो भरत खंड ही क्या संपूर्ण भारत का भविष्य ही अच्छा नहीं दिख रहा है इसलिए सनातन विचारधारा के लोगों को जात पात छोड़कर एक साथ होना ही पड़ेगा इसमें कुछ हित हो सकता है वरना स्थिति तो देश की व्यवस्था के हिसाब से भी खराब है हमारा जो प्रशासन है वह अपनी 70 साल की मूल आदत को नहीं छोड़ रहा है देश के लिए यही सबसे बड़ी विडंबना है मोदी जी को जनता ने व्यवस्था बदलने के लिए ही चुना था परंतु व्यवस्था मैं कोई बदलाव नहीं हुआ है हम यह नहीं कहते कि मोदी जी अच्छा काम नहीं कर रहे कर रहे हैं परंतु व्यवस्था नहीं बदली गई उत्तर प्रदेश में योगी जी अवस्था बदलने का पूरा प्रयत्न कर रहे हैं हो सकता है ऐसे दृड  योगी के संकल्प से उत्तर प्रदेश में कुछ हो जाए जो अभी कम नजर आ रहा है प्रशासनिक अधिकारी अपनी नौकरशाही आदत को नहीं छोड़ना चाह रहे हैं और वह परमार्थिक कामों में से भी अपना हिस्सा काढने  जुगाड़ में लगे रहते हैं जो जनता के लिए अच्छा दृष्टांत नहीं बन रहा है चलो आप जैसे लोग पर्यटन में लगे हो हो सकता है सफलता मिल जाए इसी कामना के साथ आप के लेख को लगा रहा हूं
इसी को साथ लेकर  हिंदुत्व को बचाना होगा l हिंदुत्व बचेगा तो हम सब बचेंगे l आज हिंदुओं के आपसी मतभेद के कारण पूरे हिंदू समाज पर  मुस्लिम समाज हावी होता जा रहा है  और  मुस्लिम समाज ने  हिंदू समाज को समाप्त करने का संकल्प सा ले लिया है l हिंदू तो अनेक जातियों में 
बटा है l फिर गुरु परंपराओं में अलग-अलग  बटा है  l फिर कोई संन्यासी कोई वैरागी कोई उद्दासी कोई नाथ संप्रदाय का झंडा लेकर चल रहा है l गृहस्थी की तो छोड़ो साधु समाज भी एक दूसरे को नीचा दिखाने के लिए अपने अखाड़े द्वारे का झंडा ऊंचा करने में लगा है l जिसका फायदा मुस्लिम समाज उठा रहा है l याद रखना हिंदू.... हिंदू का दुश्मन है l
अगर आप किसी हिंदू से बोलोगे कि  इन लोगों से लेनदेन इनके साथ रहना और व्यवहार छोड़ दो तो हिंदू ही तुम्हें कड़ा जवाब 
देगा l अरे यह कोई बात है l
इंसानियत छोड़ रहे हो l जबकि एक सिख गुरु ने कहा था की मुसलमान अपने दोनों हाथ तेल में डूबा वे और फिर उन दोनों हाथों को तिल के बोरे में घुसावे l जितने तिल हाथ को चिपक गए हैं l इतनी कसम कोई मुसलमान खावे कि मैं अल्लाह की कसम खाकर कहता हूं सच बोल रहा हूं तो भी उसकी बात पर विश्वास मत करना l मुसलमान जितना नमक हराम कोई जाति नहीं है l
मुसलमान केवल केवल अपने आकाओं की बात मानता है l वह जैसे कहेंगे वैसे ही करेगा l सतयुग द्वापर त्रेता मैं  जो राक्षस जाति थी वही कलयुग में मुसलमान के नाम से जानी जाती है l राक्षस आपका कभी भला नहीं कर सकता l हां भगवान की बहुत बड़ी कृपा हो तो कहीं जाकर कोई प्रहलाद  की तरह पैदा हो सकता है वह भी सैकड़ों में नहीं हजारों में नहीं लाखों में नहीं वह जाकर करोड़ों में मिलेगा l कोई एक करोड़ों में एक मुसलमान ऐसा मिलेगा जिसके अंदर मानवता मिलेगी l
वरना सब राक्षस ही राक्षस है चाहे कोई बॉलीवुड का हो चाहे कोई नेता हो चाहे मस्जिद में मौलवी हो चाहे टायर पंचर वाला हो l जब यह अकेले होते हैं हम लोगों के बीच में तो राम-राम करेंगे और जब एक राम-राम करने वाला इन सैकड़ों के बीच में होगा तो फिर निश्चित ही अल्लाह अल्लाह करवा कर मानेंगे l इन लोगों का ना कोई ईमान है ना इनके अंदर मानवता है l बस यह लोग केवल राक्षस हैं l परंतु हिंदू अपने निजी लोभ के कारण इनका त्याग नहीं कर सकता l हिंदू धर्म में कुछ ऐसे जयचंद हो गए हैं जो केवल धन के पीछे दौड़ रहे हैं l उन्हें धर्म से कोई लेना देना नहीं है l बस उनके दो बच्चे बीवी और खुद पति खुश रहे l बस यही उनकी जिंदगी है l
उन्हें धर्म से और देश से कोई लेना-देना नहीं है l मेरी बात बहुत बुरी लगी होगी l परंतु अगर इस बात को जीवन में उतार कर इन लोगों से नफरत पैदा कर ली और अपने धर्म को पहचान लिया तो निश्चित ही कल्याण हो जाएगा आपका भैया दास


Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
13 दिसंबर स्वामी विद्यानंद गिरी महाराज की पुण्यतिथि प्रवर्तन योद्धा मोहन जोशी के जन्मदिन पर विशेष महावीर संगल जी
Image
राष्ट्रीय लोक शिकायत जांच आयोग के वाइस चेयरमैन बने उपेंद्र चौधरी
Image
अकबर महान पढा पर एक सच्चाई जो छुपाई गई देखें इस लेख में पवन सिंह तरार
Image
सावधान देश को अन देने वाला किसान सम्मान देने वाला पहलवान दोनों की आंखों में आंसू गैरों पे करम अपनों पर सितम
Image