अधिकारी उसे कहते हैं जिसका कोई भी काम धिक्कार योग्य ना हो परंतु आज बिल्कुल उल्टा है कोरोना पॉजिटिव ऐसा लग रहा है जैसे जनता को सुधारने के लिए ही यह वायरस आया है भ्रष्ट अधिकारियों को नहीं एसटीएफ द्वारा तबादलों के खेल में करोड़ों का मेल हो रहा है क्या होगा इस भारत का क्या वास्तव में हमारे जीवन काल में हमें ऐसे अधिकारी या नेता मिल सकेंगे जिनका कोई भी काम धिक्कार योग्य ना हो


Popular posts
शामली पुलिस अधीक्षक की उप निरीक्षक तबादला एक्सप्रेस दर्जनों दरोगा इधर से उधर मेहरबान खान
Image
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
शामली भाजपा नेता अरविंद संगल को कोर्ट ने भेजा जेल मेहरबान खान
Image
संजीव बालियान के भाई राहुल कुटबी का निधन 4 दिन में दो भाइयों की मौत
Image
नव दलित लेखक संघ की मासिक गोष्टी का आयोजन बुध विहार खानपुर नई दिल्ली में बंशीधर नाहरवार की अध्यक्षता में संपन्न
Image