शामली पीजीआई चन्डीगढ मे युवक की मौत*के कारण अगर संदिग्ध है तो गांव में दहशत होना स्वाभाविक है आज के वातावरण में परंतु यह चंडीगढ़ पीजीआई प्रशासन को सोचना था कि अगर किसी की मौत किसी अलग बीमारी से हुई है तो उसके साथ गए तीन लोगों को वहीं पर क्वारांटिन क्यों किया गया दूसरा सक उसकी लाश को परिजनों को क्यों नहीं सौंपा गया क्या इतने बड़े हॉस्पिटल के पास में कोरोना टेस्ट की सुविधा नहीं है जिससे पीजीआई में मात्र संदेह के आधार पर इतना बड़ा खेल क्यों किया और मात्र तीन लोग पीजीआई में ही नहीं गांव डांग रोल में भी मृतक के पूरे परिवार को और जो उसके तीमारदार थे साथ में उनके परिवारों को भी शो कॉर्टेन कर दिया गय और वह तो चलो सामान्य लोग हैं परंतु गुप्ता नर्सिंग होम को भी खाली संध्या के आधार पर 14 दिन के लिए सील कर दिया गया इस तरीके से तो पूरा देश सिल हो जाएगा इसका कोई रास्ता तो निकलना चाहिए जहां संध्या होगा खाली संध्या मात्रक पूरे गांव को सील करा देगा कोई तो ऐसा रास्ता होगा कि जिसस संधे की पुष्टि 14 घंटे या 24 घंटे में हो जाए 14 दिन में इस गर्मी में लोग घर में रहते हुए भी किसी बड़ी बीमारी को प्राप्त हो सकते हैं क्या उसकी जिम्मेदारी भी कोई लेने को तैयार है नहीं उसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेगा और जब संधे हि हे तो इन लोगों को या नर्सिंग होम को खोल देना चाहिए व्यक्तिगत राय औरपुरी पुष्टि होने पर ही ऐसे कदम उठाने चाहिए देखें पूरी खबर आंखों देखे अपराध पर

*शामली पीजीआई चन्डीगढ मे युवक की मौत*के कारण अगर संदिग्ध है तो गांव में दहशत होना स्वाभाविक है आज के वातावरण में परंतु यह चंडीगढ़ पीजीआई प्रशासन को सोचना था कि अगर किसी की मौत किसी अलग बीमारी से हुई है तो उसके साथ गए तीन लोगों को वहीं पर क्वारांटिन क्यों किया गया दूसरा सक उसकी लाश को परिजनों को क्यों नहीं सौंपा गया क्या इतने बड़े हॉस्पिटल के पास में कोरोना टेस्ट की सुविधा नहीं है जिससे पीजीआई में मात्र संदेह के आधार पर इतना बड़ा खेल क्यों किया और मात्र तीन लोग पीजीआई में ही नहीं गांव डांग रोल में भी मृतक के पूरे परिवार को और जो उसके तीमारदार थे साथ में उनके परिवारों को भी शो कॉर्टेन कर दिया गय और वह तो चलो सामान्य लोग हैं परंतु गुप्ता नर्सिंग होम को भी खाली संध्या के आधार पर 14 दिन के लिए सील कर दिया गया इस तरीके से तो पूरा देश सिल हो जाएगा इसका कोई रास्ता तो निकलना चाहिए जहां संध्या होगा खाली संध्या मात्रक पूरे गांव को सील करा देगा कोई तो ऐसा रास्ता होगा कि जिसस संधे की पुष्टि 14 घंटे या 24 घंटे में हो जाए 14 दिन में इस गर्मी में लोग घर में रहते हुए भी किसी बड़ी बीमारी को प्राप्त हो सकते हैं क्या उसकी जिम्मेदारी भी कोई लेने को तैयार है नहीं उसकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेगा और जब संधे हि हे तो इन लोगों को या नर्सिंग होम को खोल देना चाहिए व्यक्तिगत राय औरपुरी पुष्टि होने पर ही ऐसे कदम उठाने चाहिए देखें पूरी खबर आंखों देखे अपराध पर


जनपद शामली के कांधला के गांव डांग रोड में कोरोना पॉजिटिव की मौत की चर्चा  से शिक्षा मित्र चंडीगढ़ हॉस्पिटल में मौत


शामली डीएम का कहना शिक्षामित्र की मौत हुई बीमारी के कारण लेकिन परिजनों को 14 दिन के लिए किया गांव में ही क्वारांटिन


परिजनों को नही मिल सका मृतक का शव


 *शिक्षा मित्र की मौत से ग्रामीण दहशत में*


     


कांधला:--- उपचार के दौरान पीजीआई मे कोरोना पॉजिटिव की आशंका, मरीज की
मौत से पूरे परिवार मे
मातम  गांव के युवक की कोरोना से मौत होने की सूचना पर स्वास्थ विभाग में मचा हड़कंप। कोरोना से मौत होने पर गांव के लोगो मे दहशत है। जिला प्रशासन टीम ने गांव मे पहुचकर 14 लोगो को
क्वारंटीन कर उनके सैम्पल जांच के लिए भेजा है। ऐतिहातन शामली का डीपी गुप्ता नर्सिंग होम सील।


Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
13 दिसंबर स्वामी विद्यानंद गिरी महाराज की पुण्यतिथि प्रवर्तन योद्धा मोहन जोशी के जन्मदिन पर विशेष महावीर संगल जी
Image
अकबर महान पढा पर एक सच्चाई जो छुपाई गई देखें इस लेख में पवन सिंह तरार
Image
सावधान देश को अन देने वाला किसान सम्मान देने वाला पहलवान दोनों की आंखों में आंसू गैरों पे करम अपनों पर सितम
Image
इस लड़की का नाम अमृता कुमारी और पिता का नाम ब्रह्मा प्रसाद है कुशीनगर के पास जंगल चौरी गांव की रहने वाली है कोई लड़का बहका कर सिवान लेकर चला गया
Image