आगरा बीटेक के छात्र ने पिता की रिवाल्वर से गोली मारकर की आत्महत्या मेहरबान खान

*आगरा में बीटेक के छात्र ने पिता की रिवाल्वर से गोली मारकर की खुदकुशी* आगरा, 22 सितम्बर । कमला नगर थाना क्षेत्र की पॉश कॉलोनी नेहरू नगर में सोमवार देर रात बीटेक के 23 वर्षीय छात्र शुभंकर ने घर में ही गोली मारकर आत्महत्या कर ली। मौके से कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। पुलिस ने मोबाईल को कब्जे में लेकर खुदकुशी का कारण जानने का प्रयास कर रही है। साथ ही परिजनों से पूछताछ कर जांच कर रही है। शुभंकर नेहरू नगर निवासी राजेश पंडित और पत्नी अर्चना का इकलौता बेटा था। वह बीटेक द्वितीय वर्ष का छात्र था।लॉकडाउन के समय कॉलेज की छुट्टी होने पर घर आ गया था। तभी से घर में ही रहकर पढ़ाई कर रहा था। दो मंजिल के घर में राजेश पंडित, उनकी पत्नी अर्चना और इकलौता बेटा शुभंकर के साथ रहते थे। नौकर गोपाल घर में काम करने आता था। साेमवार रात अर्चना घर के सामने ही टहल रही थी। राजेश घर में पहली मंजिल पर ही थे। शुभंकर दूसरी मंजिल पर पढ़ाई कर रहा था। अचानक राजेश को दूसरी मंजिल की छत पर गोली चलने की आवाज सुनाई दी। राजेश और नौकर गोपाल छत पर दौड़े गए। उन्होंने देखा तो वहां शुभंकर लहूलुहान हालत में पड़ा था। उसकी कनपटी पर गोली लगी थी। राजेश की लाइसेंसी रिवॉल्वर से उसने खुद को गोली मारी थी। रिवॉल्वर भी उसके हाथ के पास पड़ी थी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी। फोरेंसिक टीम ने मौके से नमूने लिए। रिवॉल्वर भी कब्जे में ले ली। कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। माता-पिता की समझ में नहीं आ पा रहा हैं कि उसने ये आत्मघाती कदम क्यों उठाया है। एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि शुभंकर के परिजनों ने लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुदकशी करने की बात लिखकर दी है। मोबाइल फोन की जांच कर खुदखुशी के कारण जानने का प्रयास किया जा रहा है।


Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
भ्रष्टाचार के विरुद्ध दुनिया का सबसे लंबा धरना मास्टर विजय सिंह महान युवा अब बूढ़ा हो चला थक गई आंखें इंतजार करते क्या कभी यह इंतजार खत्म होगा कोई ईमानदार शासक आएगा इस महान चेतन पर दृष्टिपात करेगा
Image
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
कैराना कलस्यन खाप भवन भाजपा गांव चलो अभियान की समीक्षा करते स्थानीय नेता एवं कार्यकर्ता
Image
कर्मशील भारतीके नाटक क्रांति सूर्य ज्योतिराव फुले पर नंदलेश ने की परिचर्चा गोष्ठी
Image