कांधला थाना अध्यक्ष के पद पर सुर्खियों में रहे श्री भगवान शर्मा आजमा रहे हैं एमएलसी चुनाव में अपनी किस्मत मेहरबान खान की रिपोर्ट


एमएलसी चुनाव  मैं खादी  पहनकर किस्मत आजमाने  उतरे पूर्व थानाध्यक्ष श्री भगवान शर्मा की चुनावी  डगर भंवर में फंसती नजर आ रही है सामाजिक वे राजनीतिक संगठनों का सक्रिय होना  इस चुनाव की  नींव  हिला देगा


कांधला शामली से मेहरबान खान पत्रकार की  खास रिपोर्ट



 दो दशक पूर्व कांधला थाना अध्यक्ष पद पर अस्थाई रूप से कांधला थाने का पद ग्रहण करने के बाद श्री भगवान शर्मा ने  अपने कार्यप्रणाली के चलते  जनपद मुजफ्फरनगर के गांव भागोवाली निवासी बाबू को मुठभेड़ में मार दिया उसके बाद कस्बा चरथावल निवासी राशिद का एनकाउंटर खंद्रावली के निकट कर दिया गया जिसको लेकर सांसद मुनव्वर हसन ने इन दोनों  मुठभेड़ को गलत बताते हुए नगर पालिका में सभा  करते हुए राशिद प्रकरण में उच्च स्तरीय जांच भी कराई उसके बाद राजीव वर्मा नामक व्यक्ति बनती खेड़ा निवासी की हत्या एक्सीडेंट मैं दिखा कर मामला रफा-दफा करने का प्रयास किया गया जिसको लेकर  किसान इंटर कॉलेज  एलम मैं जाट समाज  की एक महापंचायत का आयोजन किया गया जिसमें महेंद्र सिंह टिकैत तथा हरकिशन सिंह मलिक के साथ अन्य  खाप के चौधरियों ने हिस्सा लेकर उक्त थानाध्यक्ष  पर  आरोपों की बौछार लगाई थी इसके अलावा भी उक्त पूर्व थानाध्यक्ष वह एमएलसी स्नातक प्रत्याशी श्री भगवान शर्मा कस्बा झिंझाना वह शामली कोतवाली आदि में अपनी कार्यप्रणाली के कारण चर्चाओं में रहे अब  खाकी उतार कर खादी का चोला पहनकर एमएलसी के चुनाव में उतर कर अपनी किस्मत आजमा रहे हैं झिंझाना शामली कांधला मैं थाना अध्यक्ष का पद ग्रहण कर जिन लोगों को लाभान्वित किया था वह लोग उन्हें जिताने का प्रयास कर रहे हैं मगर वहीं दूसरी ओर मुजफ्फरनगर निवासी बाबू चरथावल निवासी राशिद वह बनती खेड़ा निवासी राजीव वर्मा आदि के परिवार के साथ समाजिक संगठन वह कुछ राजनीतिक दल दो दशक पूर्व हुई उक्त घटनाओं को उजागर करते हुए एक अच्छी खासी टीम इस चुनाव में काम करती देखी जा सकती है जो एमएलसी के चुनाव में  खाकी उतारकर खादी पहनने वाले पूर्व थानाध्यक्ष के इस चुनाव में ऐसी  बिसात बिछ आएगी कि उसे पार करना बड़ा मुश्किल होगा

Popular posts
संविदा व ठेके पर नगर पालिका में सफाई कर्मियों को परमानेंट कराने हेतु मुख्यमंत्री के नाम डीएम को ज्ञापन अरविंद झंझोट
Image
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
महर्षि बाल्मीकि पर आप नेता ने की अभद्र टिप्पणी बाल्मीकि समाज में रोष अरविंद झंझोट
Image
सफाई कर्मचारियों को नियमित कराने के लिए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन
Image
बागपत पुलिस पीड़ित पिता का थप्पड़ से स्वागत प्रभारी लाइन हाजिर
Image