चरथावल एक प्रेमी जोड़े को दरोगा व ग्राम प्रधान के प्रयास से मिली मंजिल बंद शादी के बंधन में मेहरबान खान


*


मुजफ्फरनगर बिरालसी पुलिस चौकी पर प्यार को मिली मंजिल, प्रेमी युगल ने की बिरालसी पुलिस चौकी पर एक दूसरे को माला पहनाकर शादी


*एक और मुहब्बत को मिली मंजिल,दरोगा व ग्राम प्रधान ने परिवार की मान मनोव्वल कर दोनों  को किया एक*



 चरथावल/मुजफ्फरनगर


‘यह इश्क नही आसा,बस इतना समझ लीजिये,एक आग का दरिया है, और तैर के पार करना है*

 पिछले 1 साल से चल रही मुहब्बत को मंजिल मिली मगर तमाम परेशानियो से रूबरू होकर।


       दरअसल चरथावल थाना क्षेत्र के  गांव  ज्ञानामाजरा निवासी युवती प्रीति का लंबे समय से बुढ़ाना थाना क्षेत्र के बिटावदा निवासी युवक रवि पुत्र कृष्ण पाल के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों परिवार के साथ पंजाब में भट्टे पर एक साथ काम करते थे। जहां पर दोनों एक दूसरे को दिल दे बैठे और दोनों ने साथ जीने मरने की कसमें खा ली।युवती के परिजनों को जब इसकी भनक लगी तो उन्होंने युवती के साथ मारपीट करते हुए उसे अपने साथ घर ले आए घर पर ही जब युवती को परेशान किया जाने लगा तो युवती वापस प्रेमी से मिलने के लिए घर से निकल गई जब चरथवाल थाना क्षेत्र की बिरालसी चौकी के पास पहुंची तो अकेली लड़की को सड़क पर घूमते देख चौकी इंचार्ज आनंद पोसवाल ने उसके बारे में जानकारी की। लड़की ने चौकी इंचार्ज को पूरा किस्सा सुनाया और बालिग होने की बात कहकर शादी करने व सहायता की गुहार लगाई।जिसके बाद चौकी इंचार्ज आनंद पोसवाल ने ग्राम प्रधान को बुलाकर पूरा मामला बताया चौकी इंचार्ज ने लड़की व लड़के के परिजनों को चौकी पर बुलवाया। दोनों प्रेमी युगल परिजनों के सामने शादी की जिद पर अड़ गए। बालिग होने के चलते पुलिस ने भी दोनों की शादी करने की सलाह परिजनों को दी। बाद में परिजनों की सहमति से ग्राम प्रधान ज्ञाना माजरा कँवर पाल व चौकी इंचार्ज आनन्द पोसवाल की मौजूदगी में लड़का लड़की ने एक दूसरे के गले में माला डालकर शादी कर ली इसके उपरांत उपस्थित लोगों ने वर वधु को आशीर्वाद दिया। यह शादी चर्चा का विषय बनी रही। इस दौरान पुलिसकर्मियों व परिजनों में मिठाई भी बांटी गई।

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
भ्रष्टाचार के विरुद्ध दुनिया का सबसे लंबा धरना मास्टर विजय सिंह महान युवा अब बूढ़ा हो चला थक गई आंखें इंतजार करते क्या कभी यह इंतजार खत्म होगा कोई ईमानदार शासक आएगा इस महान चेतन पर दृष्टिपात करेगा
Image
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
कैराना कलस्यन खाप भवन भाजपा गांव चलो अभियान की समीक्षा करते स्थानीय नेता एवं कार्यकर्ता
Image
कर्मशील भारतीके नाटक क्रांति सूर्य ज्योतिराव फुले पर नंदलेश ने की परिचर्चा गोष्ठी
Image