अब आंगनबाड़ी कार्यकत्री को चुनाव से पूर्व त्यागपत्र नहीं देना होगा बबीता चौधरी प्रदेश महामंत्री

 अब चुनाव पूर्व नहीं देना पड़ेगा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को त्यागपत्र निर्वाचित होने के बाद ही छोड़ना होगा पद --बबीता चौधरी



राजनीति में दखल बढ़ाने के उद्देश्य से एवं आंगनवाड़ी की तो की रक्षा के लिए उत्तर प्रदेश आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ सभी प्रदेश की आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों से आह्वान करता है कि आप अपने क्षेत्र में चुनाव लड़ने की करें तैयारी तभी होगा आंगनवाड़ी का  उद्धार


 आज से पूर्व सभी राजनीतिक दलों ने ठगा नहीं दिया किसी भी राजनीतिक दल ने आंगनवाड़ी का हक



उत्तर प्रदेश आंगनवाड़ी कर्मचारी संघ प्रदेश  महामंत्री  बबीता चौधरी ने  प्रेस नोट जारी करते हुए कहा कि सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के लिए कल  भर्ती चयन प्रक्रिया नियमावली में सबसे अच्छी बात यह रही कि अब आंगनवाड़ी को किसी भी चुनाव लड़ने से पूर्व नहीं देना पड़ेगा त्यागपत्र निर्वाचित होने के बाद ही होगी पद मुक्त , आज से पूर्व आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों को नामांकन से पूर्व भी दिया जाए तथा त्याग पत्र इससे कई हमारी आंगनवाड़ी बहनों को अपनी नौकरी से धोना पड़ा था हाथ जिसके चलते अनेकों बार संगठनों द्वारा मांग रखी गई थी कि जैसे अन्य और कर्मचारी निर्वाचित होने के बाद त्यागपत्र देते हैं वही कंडीशन हमारे पर लगाई है आज इस आदेश को पढ़ने के बाद अच्छा लगा कि अब आंगनवाड़ी कार्यकत्री भी ग्रामीण राजनीति में कर सकेगी और वह भी ऐसे समय में जब चुनाव में अब आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों के सामने अवतार है जो अपने क्षेत्र में काम किया जाता है उस के मूल्यांकन का कि उसके द्वारा क्या किया जा रहा है वही राजनीति का केंद्र सरकार प्रदेश सरकार  जो हमारी आंगनवाड़ी बहनों को गंभीरता से नहीं ले रही जब हमारी आंगनवाड़ी बहन ग्राम प्रधान क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत का चुनाव लड़े गी कुछ हारेगी तो कुछ जीतेंगे भी जब राजनीति में हमारा दखल होगा तो निश्चित रूप से आंगनवाड़ी का भला होगा इसलिए मैं इस आदेश को आंगनवाड़ी के खुशहाल भविष्य की नजर से देख रही हूं यह आदेश आने से अब निश्चित रूप से उत्तर प्रदेश की राज्य की दिशा बदलेगी अब कोई भी चुनाव निश्चित रूप से उत्तर प्रदेश आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ हर चुनाव में अपने कैंडिडेट उतारने से पीछे नहीं हटेगा और राजनीतिक आंगनबाड़ी बहनों का दखल हर कीमत पर बढ़ाया जाएगा जिससे हमारी आंगनबाड़ी बहनों का भला हो और साथ ही साथ केवल आंगनवाड़ी का भला नहीं है हमारी आशाएं संगिनी भोजन माता एवं स्वयं सहायता समूह संचालक महिलाओं का भी भला हो ग्रामीण हर उस महिला का भला हो जो आज तक राजनीति से दूरी बनाए हुए थी अब मौका है हमारी महिलाओं के पास अपना बच्चा करने का और ग्रामीण क्षेत्र की अपनी सारी क्षेत्र की महिलाओं का भला करने का जो लगता है कि आज तक सभी योजनाओं से छूटी रही है क्योंकि जब हमारा दखल होगा तो निश्चित रूप से महिलाओं का उद्धार होगा अब इस कड़ी में यह आदेश एक बड़ी के रूप में देखा जाएगा और सभी आंगनबाड़ी बहनों से अनुरोध करता हूं कि आप अपने क्षेत्र में अब सही समय है त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव सर पर है राज्य में दखल क्षेत्र में देखिए क्या स्थिति है कहां चुनाव लड़ा जा सकता है अपने गांव की महिलाओं को और जो आप प्रभावित हैं उन सभी माताओं बहनों और भाइयों को साथ लेकर चुनाव में उतरे इसी में हम सब की भलाई है

Popular posts
शामली पुलिस अधीक्षक की उप निरीक्षक तबादला एक्सप्रेस दर्जनों दरोगा इधर से उधर मेहरबान खान
Image
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
शामली भाजपा नेता अरविंद संगल को कोर्ट ने भेजा जेल मेहरबान खान
Image
संजीव बालियान के भाई राहुल कुटबी का निधन 4 दिन में दो भाइयों की मौत
Image
शामली छेड़खानी जातिसूचक धारा में जेल में बंद अरविंद संगल को वादिया के उपस्थित ना होने पर कोर्ट से जमानत भक्तों में जश्न
Image