यूपी पुलिस का कारनामा पति के वारंट पर पत्नी की गिरफ्तारी मेहरबान खान

 *यूपी पुलिस का कारनामा: पति के वारंट पर पत्नी को कर लाई गिरफ्तार*



 'ये यूपी पुलिस है जनाब कुछ भी कर सकती है' ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि उरई पुलिस ( Up Police ) ने इस जुमले की वकालत की है। पति के वारंट पर उरई पुलिस ने पत्नी को गिरफ्तार कर लिया और न्यायालय के समक्ष ले गई। जब मजिस्ट्रेट ( Court Order ) ने देखा तो पुलिस की इस लापरवाही पर हैरान रह गए। महिला के सामने ही पुलिस दराेगा को जमकर फटकार लगाई और महिला को गिरफ्तार करने वाली पूरी पुलिस टीम के खिलाफ जांच करे आदेश जारी कर दिए।

 

घटना जालौन जिले में उरई के मोहल्ला गांधी नगर की है। सिविल जज जूनियर डिविजन की अदालत में इंद्रजीत चतुर्वेदी बनाम आयशा के नाम से वाद विचाराधीन चल रहा है। इस मुकदमे में आईशा समेत चार आरोपी हैं। इनमें से आईशा समेत तीन आरोपियों को कोर्ट से जमानत मिल चुकी है। चौथा आरोपी आयशा का पति क़स्सू न्यायालय के समक्ष पेश नहीं हो रहा था। इस पर न्यायालय ने अस्सू का वारंट जारी कर दिया। कोतवाली पुलिस को जब यह वारंट मिले तो इन वारंट को तामील कर कस्सू की गिरफ्तारी की जिम्मेदारी उपनिरीक्षक मदन पाल को दी गई। मदन पाल अपनी टीम के साथ कस्सू के घर पहुंचे तो वह घर पर नहीं मिला।


इस पर पुलिस ने कस्सू की पत्नी आइशा को ही गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बकायदा आइशा का चिकित्सीय परीक्षण कराया और उसे न्यायालय के समक्ष पेश कर दिया। न्यायिक मजिस्ट्रेट प्लास गांगुली की अदालत में जब महिला को पेश किया गया तो पुलिस की इस लापरवाही पर अदालत ने पूरी पुलिस टीम को जमकर फटकार लगाई। न्यायालय ने तुरंत महिला को रिहा करने के आदेश जारी किए और महिला को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम के खिलाफ पुलिस क्षेत्राधिकारी को जांच करने के आदेश भी दिए।


इस घटना ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि पुलिस कुछ भी कर सकती है। अगर ऐसे में यूपी पुलिस हो ताे फिर क्या कहने। बरहाल इस घटना ने पुलिस की किरकिरी करा दी है क्षेत्र में यह घटना चर्चा का विषय बनी हुई है।

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
क्योंकि पूरी दुनिया में कारपेट बिछाने से अच्छा है कि हम अपने पैरों में ही जूता पहन लें..