सीतापुर महमूदाबाद सेवा निर्मित शिक्षकों को भावभीनी विदाई रिपोर्ट अजय सिंह

 *सेवानिवृत्त शिक्षकों को दी गई भावभीनी विदाई* 


=महमूदाबाद बीआरसी पर शिक्षकों के सम्मान में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने आयोजित किया समारोह

= संघ के ब्लॉक अध्यक्ष मंडल अध्यक्ष ने शिक्षकों का बढ़ाया हौसला


 *सीतापुर* । जनपद सीतापुर के महमूदाबाद ब्लाक के 5 शिक्षक  सेवानिवृत्त हो गए। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से संचालित प्राथमिक विद्यालय से सेवानिवृत्त हुए इन शिक्षकों के सम्मान में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ महमूदाबाद ब्लॉक इकाई की ओर से विदाई समारोह आयोजित किया गया। इस मौके पर ब्लॉक उपाध्यक्ष जुनैद अहमद ने सेवानिवृत्त शिक्षकों के सम्मान में संबोधित करते हुए कहा शिक्षक कभी रिटायर नहीं होता है शिक्षक अपनी सेवाएं हमेशा देता रहता है। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के मंडलीय अध्यक्ष महेश मिश्रा ने कहा गुरु का स्थान हमको जन्म देने वाले माता पिता से बढ़कर होता है यहां तक की गुरु की महिमा का वर्णन करते हुए अतिथियों ने गुरु को ईश्वर से भी अधिक सम्मान देने की बात कही है लेकिन आधुनिक शिक्षा पद्धति में निरंतर गुरु के सामाजिक व सांस्कृतिक सम्मान में कमी आई है हम सभी को इस विषय पर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए कि क्या कारण है जिससे राष्ट्र निर्माण के सम्मान में कमी आ रही है जहां तक के समाज के निर्माण में बेसिक शिक्षक के योगदान की बात है तो हम लोग समाज के लाखों बच्चों को उनके जीवन का कार्य पढ़ा कर उन्हें समाज उपयोगी बनाते हैं हम ना सिर्फ एक बच्चे के अच्छे जीवन की न्यू तैयार करते हैं बल्कि एक राष्ट्र भवन की निर्माण करते हैं इस दृष्टिकोण से हमारा काम सर्वाधिक महत्वपूर्ण है यदि हमने अपना कार्य किया तो संपूर्ण राष्ट्र भवन का निर्माण भी कमजोर हो जाएगा। उन्होंने कहा शिक्षा के क्षेत्र में हमारे संगठन राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ की भूमिका सदैव ही सकारात्मक रही है हम अपने कर्तव्य को सर्वोपरि रखते हुए शिक्षक समाज की सेवा में निरंतर प्रयत्नशील रहते हैं महमूदाबाद ब्लॉक में हमारे अध्यक्ष संदीप वर्मा और महामंत्री पुनीत वर्मा एवं अन्य समस्त कार्यकारिणी के नेतृत्व में हमारा संगठन से खेत में सर्वदा प्रयासरत रहता है उसी के परिपेक्ष में अपना संपूर्ण जीवन जिन शिक्षकों ने शिक्षा के क्षेत्र में लगा दिया ऐसे ही गुरुजनों के सम्मान में आज यहां की टीम द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया जो एक बेहद प्रसन्नता का विषय है। कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि के रूप में ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर महमूदाबाद अजय विक्रम सिंह ने कहा ज्ञान सदैव नवीन ही होता है खत्म शिक्षक कभी सेवानिवृत्त नहीं होता जब तक एक सच्चे शिक्षक की सास चलती रहती है तब तक वह अपनी वाणी के द्वारा अपने आचरण के द्वारा समाज को दिशा में शिक्षा प्रदान करता रहता है । इस मौके पर राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के ब्लॉक अध्यक्ष संदीप वर्मा, महामंत्री पुनीत वर्मा, जिला कोषाध्यक्ष इन्द्रसेन गौतम, जिला मंत्री राजेन्द्र शुक्ला, संरक्षक सुरेश कुमार वर्मा, मो० हारुन, शबाना खान, किस्मत द्विवेदी, सियाराम वर्मा, जुनैद अहमद, शकील अहमद, राम गोपाल वर्मा, इन्द्रजीत यादव, राजेश कुमार वर्मा, विनीता शर्मा, इफ्तिख़ार अली, शशिकान्त भारती, अजय शर्मा, आफरोज आलम, राधेरमण सिंह यादव, ज्योति वर्मा सहित सीमित संख्या में अन्य शिक्षक-शिक्षिकाएं सम्मिलित हुए ।



 *स्मृति चिन्ह के साथ मुख्य अतिथि ने शिक्षकों को किया सम्मानित* 

       कार्यक्रम के अंत में अजय विक्रम सिंह ने शिक्षकों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के मंडल में जिला अध्यक्ष महेश मिश्रा ने सेवानिवृत्त शिक्षकों को शॉल देकर सम्मानित किया । इस वर्ष सेवानिवृत्त हुए शिक्षकों में  तुंगनाथ शर्मा,  राजेश कुमार वर्मा, भीखालाल, चन्द्रकेश और  राम नरेश शामिल है।

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
महान कृषि वैज्ञानिक धरतीपुत्र डॉक्टर रामधन सिंह जी की जयंती पर नमन करते हुए विकास पवार भारसी
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान