केजरीवाल सरकार ने शराब की होम डिलीवरी को दी मंजूरी देवेंद्र चौहान

 *अब दिल्ली में होगी शराब की होम डिलीवरी*


नई दिल्ली।  दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में शराब की घरों में होम डिलीवरी करने का फैसला लिया है। सरकार ने मोबाइल ऐप या ऑनलाइन वेब पोर्टल के जरिए शराब की होम डिलीवरी करने की इजाजत दे दी है। सरकार की तरफ से कोरोना संक्रमण को रोकने की दिशा में लिया गया फैसला बताया जा रहा है। 

दिल्ली आबकारी (संशोधन) नियम 2021 के अनुसार, एल-13 लाइसेंस धारकों को लोगों के घर तक शराब पहुंचाने की अनुमति होगी।अधिसूचना में कहा गया, ‘लाइसेंसधारक केवल मोबाइल ऐप या ऑनलाइन वेब पोर्टल के माध्यम से ऑर्डर मिलने पर ही घरों में शराब की डिलीवरी करेगा। लेकिन इस सुविधा के तहत किसी भी छात्रावास, कार्यालय और संस्थान को कोई डिलीवरी नहीं की जाएगी।’

देश का सर्वोच्च न्यायालय भी शराब की होम डिलीवरी पर विचार करने का सुझाव दे चुका है। जिसमें उसकी तरफ से कहा गया था कि शराब की दुकानों पर अक्सर भीड़ के कारण कोरोना नियमों की अनदेखी की तस्वीरें सामने आती रही हैं। वहीं देश की कई राज्य सरकारें इसकी घोषणा पहले ही कर चुकी हैं। छत्तीसगढ़ सरकार ने शराब की होम डिलीवरी शुरू की थी। इसके पीछे सरकारों का तर्क है कि इस फैसले से कोरोना काल में शराब की दुकानों पर भीड़ इकट्ठा नहीं होगी।

उल्लेखनीय है इसके पहले दिल्ली सरकार ने राजधानी में शराब पीने के लिए कानूनी तौर पर न्यूनतम उम्र 25 साल से कम करके 21 कर दी है। दिल्ली सरकार नई आबकारी नीति को मंजूरी दे चुकी है। इस नीति के तहत दिल्ली सरकार ने शराब की नई दुकान नहीं खोलने का फैसला किया है। सभी सरकारी दुकानें बंद होंगी, दिल्ली में शराब की अब सभी दुकानें प्राइवेट होंगी।

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
क्योंकि पूरी दुनिया में कारपेट बिछाने से अच्छा है कि हम अपने पैरों में ही जूता पहन लें..