गढ़ी पुख़्ता पूर्व सभासद संजय एवं पंडित प्रेम चंद के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए अरविंद झंझोट

 गढ़ी पुख़्ता पूर्व सभासद संजय कंडवाल वह पंडित प्रेम चंद जी के निधन पर किया दुख व्यक्त


आज दिनांक 08 03 2021 को राष्ट्रीय वाल्मीकि समाज प्रतिनिधि मंच के मुख्यालय मोहल्ला पंसार यान वाल्मीकि कॉलोनी श्यामली में प्रातः 10:00 बजे एक बैठक आयोजित की जिसमें पूर्व सभासद संजय कंडवाल वाल्मीकि के निधन पर संगठन के लोगों ने दुख व्यक्त किया अरविंद झंझोट संगठन के अध्यक्ष ने संजय कंडवाल के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि संजय कंडवाल भारतीय अनुसूचित जन जागृति समिति के जिलाध्यक्ष पद पर भी कई वर्षों तक काम किया और नगर पालिका में नामित सदस्य मनोनीत होने के पश्चात समाज की सेवा की संगठन के अध्यक्ष अरविंद झंझोट ने मोहल्ला नंदू  प्रसाद कॉलोनी में भाजपा नेता देवीदास देवेंद्र डी गा न के पिताजी पंडित प्रेम चंद जी के निधन के पश्चात कल तेरी वी कार्यक्रम में शामिल होकर पंडित प्रेम चंद जी की तस्वीर पर पुष्प अर्पित करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की पंडित प्रेम चंद जी ने अपने जीवन में महर्षि वाल्मीकि मंदिर में और पानीपत में वाल्मीकि मंदिर में और शुक्रताल तीर्थ स्थल मैं 41 दिन का त प किया और अपने जीवन में धार्मिक आस्था रखते हुए धार्मिक कार्य किए इस अवसर पर अरविंद झंझोट आनंद शास्त्री चेतन शास्त्री अरुण झंझोट प्रदीप मायूस कवि देवेंद्र कुमार  गवरिया आदि शामिल रहे


भवदीय अरुण झंझोट मोबाइल नंबर 9457 7 7 1639

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
13 मार्च/जन्म-दिवस श्री नारायण राव तटेॅ जो अटल जी के भी प्रेरणा स्रोत थे एक सामान्य से दिखने वाले विलक्षण प्रतिभा से संपन्न और अलौकिक कार्यों को अंजाम देकर दुनिया को यह प्रेरणा देकर जाते हैं कि किसी ऊंचे  परिवार में जन्म लेने से ही कोई महान नहीं हो जाता महानता इंसान के क्रम में छुपी है जो ऐसे महापुरुष अपने क्रम के द्वारा सिद्ध करके जाते हैं ऐक असे ही महापुरुष की जीवनी को लिखने वाले श्री महावीर सिंघल जीऐक अच्छी  प्ररेणा दायक कहानी के दुवार बता रहे हैं
Image