सावधान यूपी हरदोई प्रशासन भ्रष्टाचार उजागर करने वाले पत्रकारों पर सख्त देवेंद्र चौहान

 आवश्यक ख़बर



भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले पत्रकार की जांच के आदेश


हरदोई: भ्रष्टाचार से संबंधित प्रकरण की जांच करने वाले अधिकारी ने भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले पत्रकार की ही जांच शुरू कर दी, जांच अधिकारी ने संबंधित पत्रकार को लिखित रूप से नोटिस जारी कर खबर से संबंधित साक्ष्य व बयान तलब किये हैं। मीडिया संस्थान ने प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया में शिकायत करने की बात कही है।


ताजा मामला हरदोई जनपद से जुड़ा हुआ है, जहां पर भ्रष्टाचार को उजागर करने पर भ्रष्टाचार की जांच के बजाय खबर लिखने वाले पत्रकार की ही जांच शुरू कर दी गई। जीआईसी के प्रधानाचार्य टीआर वर्मा ने जांच अधिकारी के तौर पर अपने पत्रांक संख्या 175/76 में द टेलीकास्ट को नोटिस भेजकर ख़बर से संबंधित साक्ष्य व बयान तलब किये हैं।


दरअसल प्रकाशक और प्रधानाचार्य के बीच पैसे के लेन-देन का वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें बुकसेलर नितिन दीक्षित द्वारा जनता इंटर कॉलेज पुरसौली के प्रधानाचार्य राजेश तिवारी को रुपये देते दिखाई दे रहे हैं।  जिसका प्रकाशन 19 अक्टूबर 2021 को द टेलीकास्ट पर किया गया था। डीआईओएस ने प्रकरण की जांच के निर्देश दिये थे, किन्तु हैरानी वाली बात तो ये है कि जांच अधिकारी बने जीआईसी हरदोई के प्रधानाचार्य टीआर वर्मा ने प्रकरण की जांच के बजाय पत्रकार की ही जांच शुरू कर दी, और ख़बर से संबंधित साक्ष्य तलब कर बैठे। इस संबंध में डीआईओएस वीके दुबे का कहना है कि उन्होंने प्रकरण से संबंधित जांच के निर्देश दिए थे, न कि पत्रकार की जांच के। जीआईसी प्रधानाचार्य ने गलत नोटिस जारी की है। 


उधर प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के रजा रिजवी का कहना है कि पूरे देश मे किसी भी पत्रकार की शिकायत के लिए केवल भारतीय प्रेस परिषद बनाया गया है। ख़बर से संबंधित साक्ष्य कोई अधिकारी या कर्मचारी नही मांग सकता, ये अधिकार केवल भारतीय प्रेस परिषद व न्यायालय को ही है। यदि किसी को खबर से सम्बंधित शिकायत है तो वह भारतीय प्रेस परिषद में शिकायत करे।

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
क्योंकि पूरी दुनिया में कारपेट बिछाने से अच्छा है कि हम अपने पैरों में ही जूता पहन लें..