पूर्व प्रधानमंत्री किसान मसीहा चौधरी चरण सिंह जी की जयंती पर शामली के मालन्डी गांव में श्रद्धा सुमन अर्पित करते किसान

किसान मसीहा चौ० चरण सिंह की जयन्ती पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते 


सैकड़ों लोगों ग्राम मालान्डी बलराज मुखिया के आवास पर किसानों मजदूरों के मसीहा महान नेता चौधरी चरण सिंह जी को हवन पूजन के बाद चौधरी साहब के चित्र पर फूल माला चढ़ाकर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए मालान्डी गांव के संभ्रांत लोग जिनमें मुख्य रुप से चौ० ब्रिहम सिंह इन्द्रपाल चेयरमैन  चौ० अनंगपाल चौसूरजपाल, अश्वनी प्रधान चौ० मिपालसिंह महेन्द्र मेंजर आदि सैकड़ों लोगों ने भाग लिया

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
जिंदगी का सफर-ये कैसा सफर कहानी क्या शिक्षा दे रही है वह बता रही है यह संसार ही समुंद्र है दंपत्ति का घर ही उसमें जलयान है यानी समुद्री जहाज है उसमें रहने वाले पति पत्नी मुसाफिर है और बच्चों को सही से इस भवसागर से पार तार देना कर्म नाम से जाना जाता है इसमें सफर कर रहे पति पत्नी पत्नी मोह के कारण डूब जाती है और पति ज्ञान रूपी नौका पर सवार होकर समुद्र से बाहर निकल आता है यह इस कहानी का सारांश या भावार्थ होना चाहिए आगे बता रहे हे सुंदर कहानी बता रहे है मेहरबान खान अपनी जबानी
Image