सफाई कर्मचारियों को नियमित कराने के लिए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन

 संविदा सफाई कर्मचारियोंव ठेके में कार्यरत सफाई कर्मचारियों को नियमित कराने की मांग


की माननीय मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन पूर्व मंत्री सुरेश राणा को सौंपा अरविंद झंझोट शामली 26 सितंबर 2022 को प्रातः 11:00 राष्ट्रीय वाल्मीकि समाज प्रतिनिधि मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरविंद झंझोट के नेतृत्व में राष्ट्रीय सचिव एवं जनपद शामली जिला अध्यक्ष रामस्वरूप बाल्मीकि एवं राष्ट्रीय सचिव अरुण झंझोट जिला संयोजक नंदू प्रसाद वाल्मीकि प्रमोद कश्यप वर्गिस झंझोट प्रतिनिधिमंडल  ने वाल्मीकि समाज की जनहित समस्याओं के समाधान कराने हेतु एक 5 सूत्रीय ज्ञापन उत्तर प्रदेश के  पूर्व कैबिनेट गन्ना विकास मंत्री को ज्ञापन सौंपा ज्ञापन में अरविंद झंझोट ने वाल्मीकि समाज की समस्याओं के बारे में अवगत कराते हुए कहां की उत्तर प्रदेश नगर पालिका परिषदों  में संविदा सफाई कर्मचारियों एवं ठेके व्यवस्था में कार्यरत सफाई कर्मचारियों को प्रदेश स्तर पर नियमित किया जाए और उत्तर प्रदेश के समस्त विभागों में रिक्त पड़े पदों को भर आया जाए और उत्तर प्रदेश की नगर पालिका परिषदों में संविदा सफाई कर्मचारियों की जिनकी मृत्यु हो गई है या हो जाती है उनके स्थान पर उनके परिवार से ठेके व्यवस्था में रोजगार दिया जाता है इसलिए अनुरोध करते हुए झंझोट ने कहा है कि संविदा सफाई कर्मचारियों की मृत्यु के उपरांत उनके परिवार से आश्रित के रूप में संविदा में ही सफाई कर्मचारी के पद पर रखा जाए और उत्तर प्रदेश ग्रामीण क्षेत्रों में से वाल्मीकि समाज के लोग बेरोजगारी के कारण और बढ़ती गरीबी के कारण रोजगार की तलाश में दूसरे प्रदेशों में जाना पड़ता है और जा रहे हैं प्रत्येक गांव में वाल्मीकि समाज को गांव में रोकने के लिए उनके परिवारों में प्रत्येक परिवार में एक रोजगार दिलाया जाए और प्रत्येक गांव में केवल वाल्मीकि समाज से पांच व्यक्ति सफाई कर्मचारी पद पर रखे जाएं इससे ग्रामीण क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था और सुंदरता बढ़ेगी और लोग स्वस्थ रहेंगे रोजगार मिलने से वाल्मीकि समाज के लोग गांव में रुकेंगे और गांव तरक्की की ओर अग्रसर होगा उक्त ज्ञापन पूर्व मंत्री सुरेश राणा जी ने लेकर सभी समस्याओं के बारे में सुनकर मान्य मुख्यमंत्री तक वाल्मीकि समाज की समस्याओं को पहुंचाने का आश्वासन दिया ज्ञापन देने वालों में अरविंद झंझोट रामस्वरूप बाल्मीकि अरुण झंझोट प्रमोद कश्यप नंदू प्रसाद वाल्मीकि वर्गी सझंझोट शामिल रहे भवदीय अरुण झंझोट

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
जिंदगी का सफर-ये कैसा सफर कहानी क्या शिक्षा दे रही है वह बता रही है यह संसार ही समुंद्र है दंपत्ति का घर ही उसमें जलयान है यानी समुद्री जहाज है उसमें रहने वाले पति पत्नी मुसाफिर है और बच्चों को सही से इस भवसागर से पार तार देना कर्म नाम से जाना जाता है इसमें सफर कर रहे पति पत्नी पत्नी मोह के कारण डूब जाती है और पति ज्ञान रूपी नौका पर सवार होकर समुद्र से बाहर निकल आता है यह इस कहानी का सारांश या भावार्थ होना चाहिए आगे बता रहे हे सुंदर कहानी बता रहे है मेहरबान खान अपनी जबानी
Image