शामली पुलिस को बड़ी सफलता 15 हजार का इनामी धर दबोचा रिपोर्टर अरविंद कौशिक

 शामली

थाना कोतवाली शामली पुलिस द्वारा डकैती मे वांछित चल रहा 15,000/- रूपये का इनामी अभियुक्त गिरफ्तार, कब्जे से अवैध हथियार बरामद ।


     आज दिनांक 19.01.2023 को पुलिस अधीक्षक शामली श्री अभिषेक के आदेशानुसार चलाये गये वांछित/इनामी अभियुक्तों की गिरफ्तारी अभियान के क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक शामली के निर्देशन एवं क्षेत्राधिकारी नगर के कुशल नेतृत्व में थाना कोतवाली शामली पुलिस द्वारा डकैती मे वांछित चल रहा 15,000/- रूपये के इनामी अभियुक्त सोनू पुत्र  प्रेम सिह निवासी रोहद थाना असोदा जिला झज्जर हरियाणा को गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त की है । गिरफ्तारी व बरामदगी के सम्बन्ध में थाना कोतवाली शामली पर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है ।

*गिरफ्तार अभियुक्त का नाम व पताः-*

1. सोनू पुत्र  प्रेम सिह निवासी रोहद थाना असोदा जिला झज्जर हरियाणा ।

*आपराधिक इतिहास-अभि0सोनू-*

1-मु0अ0सं0 173/2022 धारा 395 भादवि थाना कोतवाली शामली जनपद शामली ।

2-मु0अ0सं0 425/2022 धारा 174ए भादवि थाना कोतवाली शामली जनपद शामली ।

3-मु0अ0सं0 23/2023 धारा 3/25 ARMS एक्ट थाना कोतवाली शामली जनपद शामली ।

*बरामदगीः-*

1.एक अवैध तमंचा 315 बोर मय 02 जिन्दा कारतूस 315 बोर ।

SOCIAL MEDIA CELL SHAMLI

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
जिंदगी का सफर-ये कैसा सफर कहानी क्या शिक्षा दे रही है वह बता रही है यह संसार ही समुंद्र है दंपत्ति का घर ही उसमें जलयान है यानी समुद्री जहाज है उसमें रहने वाले पति पत्नी मुसाफिर है और बच्चों को सही से इस भवसागर से पार तार देना कर्म नाम से जाना जाता है इसमें सफर कर रहे पति पत्नी पत्नी मोह के कारण डूब जाती है और पति ज्ञान रूपी नौका पर सवार होकर समुद्र से बाहर निकल आता है यह इस कहानी का सारांश या भावार्थ होना चाहिए आगे बता रहे हे सुंदर कहानी बता रहे है मेहरबान खान अपनी जबानी
Image