विश्व हिंदू महासंघ भारत की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक पदाधिकारियों का स्वागत करते कार्यकर्ता
शामली विश्व हिन्दू महासंघ भारत की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की आयोजित बैठक में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रमोद त्यागी जी के नेतृत्व में जनपद मुजफ्फरनगर जिला व शामली के पदाधिकारी ने बढ़ चढ़कर भाग लिया
विश्व हिंदू महासंघ भारत  राष्ट्रीय कार्यकारिणी की एक बैठक महंत निवास परिसर,डेरा जोगियांन निकट श्री कालका जी मन्दिर ,नई दिल्ली में विश्व हिंदू महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष  कालिका पीठाधीश्वर महंत श्री सुरेंद्र नाथ अवधूत की अध्यक्षता में व महासंघ के राष्ट्रीय प्रवक्ता विक्रम गोस्वामी के संचालन में समीक्षा बैठक आयोजित की गई  जिसमें 18 प्रदेश के अध्यक्ष ओर प्रभारी सम्मिलित हुए । आयोजित महासंघ की बैठक में मंचासीन राष्ट्रीय अध्यक्ष कालका पीठाधीश्वर महंत श्री सुरेंद्र नाथ अवधूत व श्री प्रमोद त्यागी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री योगी राज कुमार नाथ राष्ट्रीय संगठन महामंत्री आदि साधु संतों का अरविंद कौशिक, शशिकांत सरोहा राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य ,नीरज संगल, आदि पदाधिकारीयो ने फूल मालाओं से लादकर जोरदार स्वागत किया  और राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री सुरेंद्र नाथ अवधूत को भगवा शॉल उढाकर  सम्मानित किया दिल्ली से देवेंद्र सिंह ,आचार्य सचिन पंडित ,राजस्थान से योगी हीरालाल ,पंजाब से  महंत सुनील अचलेश,हरियाणा से स्वामी सुखदेवा नंद,आंध्र प्रदेश से डॉ स्वामी रामानुजाचार्य,उत्तर प्रदेश से इन्द्रदेब,स्वामी रमेशानंद गिरी,बंगाल से सोमेल,पुनीत गोस्वामी,महा राष्ट्र से राजेन्द्र सिंह,मध्यप्रदेश से योगी राजपाल नाथ ,बिहार से श्री आर एन  चौधरी गोपाल भगत ,राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रमोद त्यागी ,चंडीगढ़ से शलभ शर्मा ,सालासर बाला जी के पुजारी श्री अर्जुन पंडित के अलावा सभी 18 प्रदेशों के प्रतिनिधियों ने भी बैठक में भाग लिया । और उनके द्वारा किए गए कार्यों की समीक्षा की गई
उत्तराखंड के अध्यक्ष अनुराग धीमान व प्रभारी वैभव शर्मा ने अपने कार्यो का विस्तृत ब्यौरा दिया और प्रत्येक माह में होने वाले कार्यकर्मो  के बारे में भी जान कारी दी ।महासंघ के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री राजकुमार चौहान ने सभी पदाधिकारियों का परिचय कराते हुए ओर भविष्य की योजनाओं के बारे मैं जानकारी ली l और वंदे मातरम  के साथ बैठक का समापन कराया
Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
जिंदगी का सफर-ये कैसा सफर कहानी क्या शिक्षा दे रही है वह बता रही है यह संसार ही समुंद्र है दंपत्ति का घर ही उसमें जलयान है यानी समुद्री जहाज है उसमें रहने वाले पति पत्नी मुसाफिर है और बच्चों को सही से इस भवसागर से पार तार देना कर्म नाम से जाना जाता है इसमें सफर कर रहे पति पत्नी पत्नी मोह के कारण डूब जाती है और पति ज्ञान रूपी नौका पर सवार होकर समुद्र से बाहर निकल आता है यह इस कहानी का सारांश या भावार्थ होना चाहिए आगे बता रहे हे सुंदर कहानी बता रहे है मेहरबान खान अपनी जबानी
Image