शामली तिरंगे की शान में गुस्ताखी जिम्मेदार कौन प्रशासन मोन मुख्यमंत्री से शिकायत
जनपद शामली 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर तिरंगे की शान में गुस्ताखी अपराधी कौन 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर शामली प्रशासन द्वारा ध्वजारोहण का कार्यक्रम हनुमान धाम शामली मे नगर पालिका शामली के सौजन्य से रखा गया था जिसमें मुख्य अतिथि प्रदेश सरकार के मंत्री शामली जिले के प्रभारी श्रीमान दिनेश खटीक के साथ ही जिलाधिकारी शामली भी शामिल हुए और मंत्री और आला अधिकारी की मौजूदगी में ही तिरंगा फहराने से पहले ही राष्ट्रगान गाया गया इतना ही नहीं उसके बाद तिरंगे को उल्टा फहराया गया उस समय माननीय मंत्री जी श्रीमान जिलाधिकारी और भारतीय जनता पार्टी और नगर के अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे उन सभी की मौजूदगी में तिरंगे का अपमान होता रहा इस विषय में कुछ राष्ट्रभक्त भाजपा कार्यकर्ताओं एवं नागरिकों ने शिकायत की है और तिरंगे के अपमान पर माननीय मुख्यमंत्री  और सीईओ शामली से लिखित में शिकायत करते हुए मांग की गई है  तिरंगे की शान में जिसने भी गुस्ताखी की उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर वैधानिक कार्रवाई अमल में लाई जाए  अब देखना है जिस कार्यक्रम में माननीय सरकार के मंत्री और श्रीमान जिला अधिकारी मौजूद हो और उन्हीं की मौजूदगी में यह गुस्ताखी की गई हो तो क्या सीओ साहब इस पर कार्यवाही कर पाएंगे यह सोचने का विषय है देखते हैं कैसी कार्रवाई होती है किसके खिलाफ होती हैं कार्यक्रम की पूरी जिम्मेदारी नगर पालिका शामली के अधिशासी अधिकारी कि थी
Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
महान कृषि वैज्ञानिक धरतीपुत्र डॉक्टर रामधन सिंह जी की जयंती पर नमन करते हुए विकास पवार भारसी
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान