करनाल हाईवे बड़ा हादसा ट्रैक्टर के दो टुकड़े एके शर्मा बिडोली

 करनाल हाईवे पर दो टुकड़ों में बटा ट्रैक्टर , हाईवे पर चढ़ते हुए ट्रक से हुआ हादसा

 शुक्र है भगवान का कोई घायल नहीं



    गांव बीबीपुर जलालाबाद से गन्ने से भरी ट्रैक्टर ट्राली लेकर आ रहे थे झिंझाना की ओर


        झिंझाना 27 मार्च :  थाना क्षेत्र के गांव बीबीपुर जलालाबाद निवासी एक युवक अपने एक साथी के साथ गन्ने से भरी एक ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर कोल्हू पर गन्ना डालने आ रहा था । वह जब करनाल हाईवे पर चढ़ा तो झिंझाना की ओर से आ रहे एक ट्रक ने ट्रैक्टर में टक्कर मार दी फलस्वरूप ट्रैक्टर के दो हिस्से हो गए । मगर भगवान का शुक्र है कि दोनों बाल-बाल बच गए । बाद में दोनों पक्षों का फैसला हो गया ।         

           बीबीपुर निवासी अजय कुमार पुत्र जनेक  आज रविवार को करीब 11:30 बजे गन्ने से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर अपने दोअन्य साथी रामकुमार व बोबी के साथ कोल्हू में गन्ना डालने के लिए चला था । करीब 2 किलोमीटर बाद ही करनाल हाईवे पर चढ़कर कट से निकलकर झिंझाना की ओर मुड़ना चाहता था कि तभी शामली की ओर से आ रहे एक ट्रक ने ट्रैक्टर ट्रॉली को अपनी चपेट में ले कर दुर्घटनाग्रस्त कर दिया । इस हादसे में ट्रैक्टर के दो टुकड़े हो गए । ट्रक को लेकर बुलंदशहर निवासी इमरान करनाल की ओर जा रहा था । 

      मौके पर पहुंची अहमदगढ़ पुलिस चौकी के इंचार्ज पवन यादव ने बताया कि भगवान की कृपा से इस घटना में कोई भी घायल नहीं हुआ है । ट्रैक्टर के दो टुकड़े हो गए गांव के प्रधान पति दिनेश आदि ने दोनों पक्षों के बीच फैसला करा दिया ।

Ak sharma bidoli

Popular posts
चार मिले 64 खिले 20 रहे कर जोड प्रेमी सज्जन जब मिले खिल गऐ सात करोड़ यह दोहा एक ज्ञानवर्धक पहेली है इसे समझने के लिए पूरा पढ़ें देखें इसका मतलब क्या है
मत चूको चौहान*पृथ्वीराज चौहान की अंतिम क्षणों में जो गौरव गाथा लिखी थी उसे बता रहे हैं एक लेख के द्वारा मोहम्मद गौरी को कैसे मारा था बसंत पंचमी वाले दिन पढ़े जरूर वीर शिरोमणि पृथ्वीराज चौहान वसन्त पंचमी का शौर्य *चार बांस, चौबीस गज, अंगुल अष्ठ प्रमाण!* *ता उपर सुल्तान है, चूको मत चौहान
Image
एक वैध की सत्य कहानी पर आधारित जो कुदरत पर भरोसा करता है वह कुदरत उसे कभी निराश नहीं होने देता मेहरबान खान कांधला द्वारा भगवान पर भरोसा कहानी जरूर पढ़ें
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी जिला अधिकारियों के व्हाट्सएप नंबर दिए जा रहे हैं जिस पर अपने सीधी शिकायत की जा सकती है देवेंद्र चौहान
क्योंकि पूरी दुनिया में कारपेट बिछाने से अच्छा है कि हम अपने पैरों में ही जूता पहन लें..